close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कॉलेजों में अब पैरेंट्स की रहेगी अपने बच्चों पर नजर, हर महीने होगी टीचर्स मीटिंग

मोरारका कॉलेज के कार्यवाहक प्राचार्य डॉ. राजवीर श्योराण ने बताया कि इसके अंतर्गत प्रत्येक माह में एक दिन कॉलेज एवं अभिभावकों के लिये 'संवाद संगम कार्यक्रम' आयोजित करवाएं जाएंगे.

कॉलेजों में अब पैरेंट्स की रहेगी अपने बच्चों पर नजर, हर महीने होगी टीचर्स मीटिंग
अभिभावक भी कॉलेज के विकास में अपनी भूमिका निभाएं.

झुंझुनूं/ संदीप केड़िया: एक आम धारणा है कि स्कूल से निकलने के बाद जब विद्यार्थी कॉलेज में प्रवेश करते हैं तो पढ़ाई को लेकर विद्यार्थियों के साथ-साथ लेक्चरर भी ध्यान नहीं देते. वहीं पैरेंट्स को भी पता नहीं चल पाता कि कॉलेज में पढ़ाई चल भी रही है या नहीं? स्कूल स्तर पर तो पीटीएम के चलते पैरेंट्स की पूरी नजर पढ़ाई और बच्चों पर होती है. अब कुछ ऐसी ही नजर कॉलेजों में भी होगी. 

राजस्थान में उच्च शिक्षा में गुणवत्ता सुधारों को लेकर कॉलेज शिक्षा अनेकों नवाचारों को कर रहा है. इसके लिए स्कूलों में अभिभावकों और शिक्षकों के मध्य होने वाली पैरेंट्स मिटिंग अब प्रदेश के राजकीय महाविद्यालयों में भी आयोजित की जाएगी. इस मिटिंग को 'कॉलेज कम्यूनिटी कनेक्ट' नाम दिया गया है. इसके अंतर्गत कॉलेज शिक्षा विभाग के आयुक्त प्रदीपकुमार बोरड़ का कहना है कि अभिभावक शिक्षा के त्रिकोण की अहम कड़ी है इसलिए अभिभावक को समाज का प्रतिनिधि मानकर उन्हें कॉलेज में पर्यवेक्षक के रूप में जोड़ना चाहते हैं, ताकि महाविद्यालय में दी जाने वाली शिक्षा, सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं एवं कार्यक्रमों की जानकारी समाज को मिले.

अभिभावक भी कॉलेज के विकास में अपनी भूमिका निभाएं. उन्होंने कहा कि यदि अभिाभवक स्वयं को कॉलेज के विकास के साथ जोड़कर चिंतन करेंगे. तो कॉलेजों की अनेकों समस्याओं का स्थानीय हल निकल सकता है. साथ ही कॉलेज में आने वाले विद्यार्थियों पर उनके अभिभावकों की निगरानी होने से विद्यार्थियों की कॉलेजों में उपस्थिति तथा जिम्मेदारी भी बढ़ेगी. इस योजना को 'कॉलेज कम्यूनिटी कनेक्ट' नाम दिया गया है. 

मोरारका कॉलेज के कार्यवाहक प्राचार्य डॉ. राजवीर श्योराण ने बताया कि इसके अंतर्गत प्रत्येक माह में एक दिन कॉलेज एवं अभिभावकों के लिये 'संवाद संगम कार्यक्रम' आयोजित करवाएं जाएंगे. विभाग ने इन संवाद संगम कार्यक्रमों की तिथियों भी निर्धारित कर दी हैं. अक्टूबर माह की 12 तारीख से आरंभ होकर यह आयोजन आगामी वर्ष के फरवरी माह तक चलेगा. उसके बाद अगले सत्र में जुलाई 2020 से ये फिर आयोजित किए जाएंगे.

झुंझुनूं के आरआर मोरारका कॉलेज में 12 अक्टूबर को दोपहर डेढ़ बजे कॉलेज कम्यूनिटी कनेक्ट के तहत संवाद संगम कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा. कॉर्यवाहक प्राचार्य डॉ. श्योराण ने बताया कि कार्यक्रम में अभिभावकों की उपस्थिति अहम रहेगी. उन्होंने बताया कि इसमें आशुभाषण, वाद-विवाद, कविता पाठ, देशभक्ति गायन, संदेशपरक एकाकी अभिनय आदि गतिविधियां आयोजित की जाएगी.

कॉलेज में शिक्षण के माहौल को बेहतर बनाने एवं अंतर-संकाय समझ विकसित करने के लिए विभाग ने 'इंटर डिस्प्लीनरी एज्युकेशन एसोसिएशन (आईडिया)' योजना आरंभ की है. इसके अंतर्गत प्रत्येक माह के दूसरे एवं चौथे शनिवार को दोपहर दो से तीन बजे तक अंतर विषयक व्याख्यान, चर्चा सत्र, सेमीनार, कार्यशाला आदि कार्यक्रमों का आयोजन करवाने की अनिवार्यता की गई है. 

इसमें शिक्षकों की उपस्थिति को आवश्यक किया गया है, परंतु नियमित कक्षाएं बाधित नही हों, इसका ध्यान रखने के लिए कहा गया है. स्नातकोत्तर एवं स्नातक के विद्यार्थियों को इस कार्यक्रम में सम्मिलित करने के निर्देश जारी किए गए हैं. ''कॉलेज शिक्षा आयुक्तालय के प्राप्त निर्देशानुसार 12 अक्टूबर को कॉलेज कम्यूनिटी कनेक्ट कार्यक्रम होगा. इसके लिए अभिभावकों से संपर्क किया जा रहा है. इससे अभिभावक कॉलेज से जुड़कर अपने बच्चों की जांच प्रखरता के बारे में पता लगा सकेंगे.