close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जयपुर: ऑनलाइन ठगी का रोज हो रहे लोग शिकार, पुलिस के जागरुकता का प्रयास फेल

पुलिस सूत्रों के अनुसार, जयपुर में शातिर ठगों ने नौकरी लगाने, मेडिकल कॉलेज में दाखिल कराने और खाते से पैसा निकालने के साथ ही क्रेडिट कार्ड से ऑनलाइन शॉपिंग कर दीनदयाल जाखड़, बालेश्वर प्रसाद, प्रहलाद राय और नवीन अग्रवाल को अपना शिकार बनाया है.

जयपुर: ऑनलाइन ठगी का रोज हो रहे लोग शिकार, पुलिस के जागरुकता का प्रयास फेल
पुलिस मीडिया या सोशल मीडिया के जरिए जागरुकता अभियान चला रही है. (फोटो साभार: DNA)

जयपुर: साइबर ठगी यानी ऑनलाइन ठगी राजस्थान पुलिस (Rajasthan Police)के लिए बड़ी चुनौती बन गई है. शातिर साइबर ठग ठगी का नया तरीका इजाद कर रहे है. इस तरह के मामले हर रोज साइबर थाने (Cyber Police Station) में दर्ज हो रहे हैं. साइबर क्राइम के अपराधियों को पकड़ने के लिए पुलिस भी गंभीर दिख रही है. इस तरह का एक और मामला सामने आया है. जिसमें जयपुर के रहने वाले कई लोगों से लाखों रूपए की ठगी हुई है. 

पुलिस सूत्रों के अनुसार, जयपुर में शातिर ठगों ने नौकरी लगाने, मेडिकल कॉलेज में दाखिल कराने और खाते से पैसा निकालने के साथ ही क्रेडिट कार्ड से ऑनलाइन शॉपिंग कर दीनदयाल जाखड़, बालेश्वर प्रसाद, प्रहलाद राय और नवीन अग्रवाल को अपना शिकार बनाया है. इन शातिर ठगों ने पीड़ितों को अपने झांसे में लेकर लाखों रूपए की ठगी को अंजाम दिया है. जानकारी मिलने के बाद पीड़ितों ने जयपुर पुलिस कमिश्नरेट के विशेष अपराध व साइबर अपराध थाने में मामला दर्ज कराया है.

ऑनलाइन या साइबर ठगी की वारदातों को लेकर जयपुर पुलिस का विशेष अपराध व साइबर पुलिस थाना लगातार मामलों की जांच कर शातिर ठगों को पकड़ने में जुटा हुआ है. पुलिस मीडिया या सोशल मीडिया के जरिए लोगों को ऐसे ठगों से सावधान रहने की नसीहत भी दे रही है. लेकिन फिर भी जागरूकता की कमीं के कारण लोग ठगी का शिकार हो रहे है.