राजस्थान संकट: विधायकों के टूटने का खतरा, MLAs के साथ होटल में शिफ्ट हुए गहलोत

राजस्थान प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष और डिप्टी सीएम सचिन पायलट के बागी तेवरों के बाद अशोक गहलोत की सरकार संकट में आ गई है. 

राजस्थान संकट: विधायकों के टूटने का खतरा, MLAs के साथ होटल में शिफ्ट हुए गहलोत
जयपुर में कांग्रेस विधायक दल की बैठक में 109 विधायक पहुंचे.
Play

जयपुर/नई दिल्ली: राजस्थान इस समय देश की राजनीति का केंद्र बना हुआ है. राजस्थान की राजनीति की तरंगें दिल्ली तक महसूस की जा रही हैं. सचिन पायलट (Sachin Pilot) की नाराजगी से गहलोत सरकार पर संकट के बादल छा गए हैं. कांग्रेस अब सचिन पायलट को मनाने के लिए पूरी कोशिश कर रही है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) और पायलट के बीच सुलह के लिए प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने हस्तक्षेप किया है. प्रियंका गांधी वाड्रा ने सचिन पायलट से फोन पर बात की. उधर, राहुल गांधी ने अशोक गहलोत से फोन पर बातचीत की है. सूत्रों के मुताबिक, पायलट के कांग्रेस में बने रहने की संभावना बहुत कम है. 

जयपुर में कांग्रेस विधायक दल की बैठक में 109 विधायक पहुंचे. सरकार के खिलाफ काम करने वाले कार्यकर्ता पर कार्रवाई का प्रस्ताव पास किया गया. कांग्रेस को अपने विधायकों के टूटने का खतरा लग रहा है. इसलिए कांग्रेस ने अपने विधायकों को जयपुर के होटल में शिफ्ट कर दिया है.  

सरकार बचाने के लिए 'महाराष्ट्र मॉडल' पर चल रही कांग्रेस
राजस्थान में सरकार बचाने के लिए कांग्रेस 'महाराष्ट्र मॉडल' पर चल रही है. अब आप एमपी मॉडल और महाराष्ट्र मॉडल का मतलब समझ लीजिए. राजस्थान की राजनीति में इस समय दो विकल्प दिख रहे हैं. आप इसे दो मॉडल भी कह सकते हैं. पहला है एमपी मॉडल: इसका मतलब ये हुआ कि सचिन पायलट कांग्रेस छोड़ेंगे और ज्योतिरादित्य सिंधिया की तरह बीजेपी में शामिल हो सकते हैं और दूसरा है महाराष्ट्र मॉडल: यानी सचिन पायलट बीजेपी में जाने की संभावनाओं को अंतिम वक्त में खत्म कर देंगे और बीजेपी में नहीं जाएंगे. इसे आप महाराष्ट्र मॉडल कह सकते हैं. आपको याद होगा एनसीपी नेता अजित पवार ने ऐसा ही किया था. 

राजस्थान के सियासी ड्रामे में प्रियंका गांधी की एंट्री, सचिन पायलट से फोन पर की बात

गहलोत का बीजेपी पर आरोप
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा, "बीजेपी सरकार को अस्थिर करना चाहती है. विधायकों की खरीद-फरोख्त करना चाहती है. बीजेपी प्रजातंत्र की हत्या करने की कोशिश कर रही है." राजस्थान सरकार के संकट पर बीजेपी राष्ट्रीय महासचिव ओम माथुर ने कहा है कि अपनी ही पार्टी के लोगों की कांग्रेस जांच करा रही है. मतलब साफ है कि चिंगारी को दबाने के लिए बीजेपी का नाम लिया जा रहा है. कांग्रेस का कुनबा बिखर रहा है.  

- राजस्थान में जारी सियासी संकट पर बीजेपी के वरिष्ठ नेता और राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ओम माथुर ने कहा, "राजस्थान के लोगों ने कांग्रेस को राज्य में सरकार बनाने का मौका दिया था. उन्हें इसका सही इस्तेमाल करना चाहिए था. सीएम को अपनी सरकार बरकरार रखनी चाहिए थी, लेकिन वह ऐसा नहीं कर पा रहे हैं. उनकी पार्टी के विधायक उनसे खुश नहीं हैं."