close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: हाइब्रिड फॉर्मुले के बाद निकाय चुनाव के कार्यक्रम पर सतीश पूनिया ने उठाए सवाल

निकाय चुनाव का कार्यक्रम सरकार ने नहीं बल्कि राज्य निर्वाचन आयोग ने तय किया है, लेकिन बीजेपी को इसमें भी सरकार की भूमिका ही दिखती है. 

राजस्थान: हाइब्रिड फॉर्मुले के बाद निकाय चुनाव के कार्यक्रम पर सतीश पूनिया ने उठाए सवाल
फाइल फोटो

जयपुर: बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने हाइब्रिड सिस्टम के बाद अब चुनाव के कार्यक्रम पर सवाल उठाए हैं. पूनिया ने कहा कि अबसे पहले आमतौर पर निकाय चुनाव के नतीजों के दो दिन के भीतर ही अध्यक्ष और उपाध्यक्ष का चुनाव हो जाया करता था, लेकिन इस बार इसमें एक हफ्ते बाद का समय तय किया है. पूनिया ने नतीजे और अध्यक्ष के चुनाव के बीच की अवधि के गलत इस्तेमाल की आशंका भी जताई.

निकाय चुनाव में नतीजों और उसके बाद अध्यक्ष उपाध्यक्ष के चुनाव की तारीख में लंबे अंतर से बीजेपी चिंतित दिख रही है. बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने इस बात की आशंका जताई कि इस अवधि का समय सरकार डराने धमकाने और खरीद-फरोख्त करने में कर सकती है.

हालांकि, निकाय चुनाव का कार्यक्रम सरकार ने नहीं बल्कि राज्य निर्वाचन आयोग ने तय किया है, लेकिन बीजेपी को इसमें भी सरकार की भूमिका ही दिखती है. फिर भी सतीश पूनिया कहते हैं कि चुनाव तारीखों में सरकार का भी कुछ स्तर पर दखल हो भी सकता है.

हालांकि, इस सब आशंकाओं के बीच बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि उनकी पार्टी का कार्यकर्ता सक्षम है और किसी भी मोर्चे पर कमजोर नहीं पड़ेगा. पूनिया ने कहा कि अबकी बार सत्ताधारी पार्टी को लोगों के बीच एक्सज़ करते हुए बीजेपी अपनी प्रभावी उपस्थिति दर्ज कराएगी और ज्यादा से ज्यादा निकायों में अपना बोर्ड भी बनाएगी.