close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: उपचुनाव से पहले लगाई जाएंगी महापुरुषों की प्रतिमा, आज होगी मीटिंग

विभिन्न सामाजिक संगठन, राजनीतिक दल, पार्षद, मंत्री और विकास समितियों ने शहर के विभिन्न स्थानों पर महापुरुषों, राजनेताओं और शहीद की प्रतिमा स्थापित करने और उनके नाम से रोड का नामकरण करने की मांग की है.

राजस्थान: उपचुनाव से पहले लगाई जाएंगी महापुरुषों की प्रतिमा, आज होगी मीटिंग

जयपुर: आगामी दिनों में शहर के प्रमुख चौराहों, सर्किल और रोड पर महापुरुषों की मूर्तियां और नेम प्लेट नजर आएंगी. नगर निगम चुनाव से पहले कांग्रेस समर्थित मेयर विष्णु लाटा समाज के सभी वर्ग और संगठनों का खुश करने का प्रयास कर रहे हैं. इसके लिए वह शहर में महापुरुषों, राजनीतिक नेताओं और शहीदों की मूर्तियां लगाने और उनके नाम पर रोड का नामकरण करने की तैयारी में जुटे हैं.

नगर निगम चुनाव से पहले जयपुर नगर निगम में ईसी की बैठक आज होगी. लेकिन रोचक बात है कि बैठक में रखे जाने वाले अतिरिक्त 47 में से 40 प्रस्ताव तो सिर्फ सड़कों और पार्कों के नामांकरण के शामिल किए गए हैं. जयपुर नगर निगम कार्यकारिणी समिति की 26 सितम्बर को प्रस्तावित मीटिंग में ऐसे करीब तीन दर्जन प्रस्तावों को स्वीकृति दी जा सकती है. हालांकि, अभी तक मीटिंग का एजेंडा फाइनल नहीं किया गया है. लेकिन माना जा रहा है कि ईसी ऐसे सभी प्रस्ताव को स्वीकृत करेगी. मीटिंग में शिवाजी महाराज, भाजपा नेता रामदास अग्रवाल, धर्मगुरु महर्षि नवल महाराज सहित अन्य महापुरुषों की मूतियां लगाने के आधा दजर्न से अधिक प्रस्ताव स्वीकृत किए जा सकते है.

सूत्रों के मुताबिक विभिन्न सामाजिक संगठन, राजनीतिक दल, पार्षद, मंत्री और विकास समितियों ने शहर के विभिन्न स्थानों पर महापुरुषों, राजनेताओं और शहीद की प्रतिमा स्थापित करने और उनके नाम से रोड का नामकरण करने की मांग की है. नगर निगम को रोड के नामकरण और मृर्तियां स्थापित करने के तीन दर्जन से अधिक प्रस्ताव प्राप्त हुए है. रोड के नामकरण और मृर्तियां लगाने की स्वीकृति देने का अधिकार जयपुर नगर निगम की कार्यकारणी समिति को है. इस साल नवम्बर में जयपुर नगर निगम के चुनाव प्रस्तावित हैं. 

अगले माह चुनाव आचार संहिता लागू हो जाएगी. इसलिए मेयर ने चुनाव आचार संहिता लागू होने से पहले सभी प्रस्ताव स्वीकृत करने की तैयारी की है. इसलिए ईसी मीटिंग बुलाई गई है. जानकारों की माने तो परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने पानीपेच तिराहा से नाहरी का नाका तक रोड का नाम चमत्कारेश्वर महादेव रोड करने का प्रस्ताव दिया है. जबकि वार्ड 83 की पार्षद माया महावर ने छत्रपति शिवाजी मूर्ति लगाने की मांग की है. इसी प्रकार समग्र समाज सेवा समिति ने महेश नगर पार्क में बी आर अम्बेडकर की मृर्ति लगाने की अनुमति मांगी है. जबकि भाजपा के वरिष्ठ नेता रामदास अग्रवाल के बेटे अशोक अग्रवाल ने आश्रम रोड तिराहे पर दिवंगत पिता की मृर्ति लगाने का प्रस्ताव दिया है.

बहरहाल, नगर निगम के चुनाव में पांच साल तक अपने क्षेत्र की सुध नहीं लेने वाले पार्षद काम तो नहीं करवा पाए. लेकिन दिवंगतों के नाम पर वोट बटोरने की जुगत में लग गए हैं. इसलिए पहली बार पांच साल में चालीस से ज्यादा प्रस्ताव सिर्फ शहर के विभिन्न स्थानों पर महापुरुषों, राजनेताओं और शहीद की प्रतिमा स्थापित करने और उनके नाम से रोड का नामकरण करने के शामिल किए गए हैं.

--सतेंद्र यादव, न्यूज डेस्क