close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: शिक्षा विभाग के इंजीनियरिंग कॉलेज का नाम बदलने से गुस्साए छात्र, किया प्रदर्शन

आंदोलनकारी छात्रों का आरोप है कि उन्हें पहले ही प्लेसमेंट नहीं मिल रहा है. ऐसे में यदि राजकीय शब्द को हटा दिया जाएगा तो उनके इस कॉलेज की पहचान ही समाप्त हो जाएगी.

राजस्थान: शिक्षा विभाग के इंजीनियरिंग कॉलेज का नाम बदलने से गुस्साए छात्र, किया प्रदर्शन
छात्रों ने कहा, जब तक शिक्षा विभाग अपना आदेश वापस नहीं लेता तब तक आंदोलन जारी रहेगा.

मनवीर सिंह, अजमेर: राजस्थान के अजमेर में स्थित राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेज के नाम परिवर्तन का मामला तुल पकड़ने लगा है. नाम में से राजकीय शब्द को हटाए जाने संबंधित तकनीकी शिक्षा विभाग के आदेश के बाद छात्रों ने आन्दोलन शुरू कर दिया है. गुस्साए छात्रों ने आज इंजीनियरिंग कॉलेज के मुख्य द्वार पर तालाबंदी कर प्राचार्य सहित कॉलेज के सभी व्याख्याताओं और कॉलेज स्टाफ को कॉलेज में ही बंद कर दिया और बाहर धरना लगा कर बैठ गए. 

आंदोलनकारी छात्रों का आरोप है कि उन्हें पहले ही प्लेसमेंट नहीं मिल रहा है. ऐसे में यदि राजकीय शब्द को हटा दिया जाएगा तो उनके इस कॉलेज की पहचान ही समाप्त हो जाएगी. छात्र कॉलेज की अव्यवस्थाओं को लेकर भी कॉलेज प्रशासन को कटघरे में खड़ा कर रहे हैं. छात्र नौकरी न लगने के कारण कॉलेज प्रशासन से नाराज हैं और ऐसे में कॉलेज का नाम बदले जाने के कारण उन्हें उनकी परेशानी बढ़ने का अंदेशा हो रहा है. 

वहीं छात्रो के इस हंगामे को देखते हुए कॉलेज प्रशासन द्वारा कॉलेज में पुलिस भी बुलवा ली गई लेकिन छात्रों ने पुलिस को भी कोलेज में प्रवेश नहीं करने दिया. जिसके चलते फिलहाल पुलिस भी मामले में कॉलेज प्रशासन की कोई सहायता नहीं कर पा रही है. दरअसल, छात्रों का कहना है कि जब तक तकनीकी शिक्षा विभाग अपना आदेश वापस नहीं लेता तब तक आन्दोलन जारी रहेगा. इसके बाद अब यह देखने वाली बात होगी कि शिक्षा विभाग क्या कदम उठाता है और इस आदेश को वापस लेने या लागू करने की दिशा में किस प्रकार से कार्य करता है.