close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: शहीद इंस्पेक्टर की पहली पुण्यतिथि पर कार्यक्रम का हुआ आयोजन, DGP ने दी श्रद्धांजलि

इस मौके पर डीजीपी भुपेंद्र यादव ने दिवंगत मुकेश कानूनगो की तस्वीर पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी और परिवार को हिम्मत दिलाई. 

राजस्थान: शहीद इंस्पेक्टर की पहली पुण्यतिथि पर कार्यक्रम का हुआ आयोजन, DGP ने दी श्रद्धांजलि
एक साल पहले बदमाशों से मुठभेड़ में मुकेश कानूनगो की मौत हो गई थी.

जयपुर: राजस्थान पुलिस के शहीद इंस्पेक्टर मुकेश कानूनगो की प्रथम पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया. शहर के विद्याधर नगर इलाके के आदर्श विद्या मंदिर में श्रद्धांजली सभा आयोजित की गई. श्रद्धांजलि सभा मे डीजीपी भूपेंद्र यादव सहित पुलिस महकमे के आलाधिकारी मौजूद रहे. 

इस मौके पर डीजीपी भुपेंद्र यादव ने दिवंगत मुकेश कानूनगो की तस्वीर पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी और परिवार को हिम्मत दिलाई. साथ ही शहीद मुकेश कानूनगो के बच्चों से मिलकर उनका मनोबल बढ़ाया. इस अवसर पर पुलिस अधिकारियों ने रक्तदान कर अपने साथी को याद किया. इस दौरान अतिरिक्त पुलिस आयुक्त अशोक गुप्ता, अजय पाल लाम्बा, डीसीपी राजीव पचार सहित महकमे के आलाधिकारी रहे मौजूद.

1 साल पहले हुए थे शहीद
आपको बता दें कि एक साल पहले सीकर के फतेहपुर में बदमाशों से मुठभेड़ के दौरान इंस्पेक्टर मुकेश कानूनगो की गोली लगने से मौत हो गई थी. घटना के बाद पुलिस ने पूना, मुंबई सहित अलग अलग जगहों से हत्याकांड में शामिल रहे बदमाश अजय चौधरी, जगदीप धनकड़, दिनेश उर्फ लारा, ओमप्रकाश, कैलाश नागौरी सहित अन्य बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया था. पुलिस ने मामले में एकजुट होकर जांच की और कोर्ट में मजबूती के साथ मामले की पैरवी की जिसके चलते अब तक बदमाशों को जमानत नही मिल पाई है. पुलिस ने इस मामले में बदमाशों को पनाह देने वालों को भी गिरफ्तार किया लेकिन उन्हें बाद में कोर्ट से जमानत मिल गई थी.

धीमी गति से चल रही है मुकदमे की जांच
घटना को लेकर अब फतेहपुर के एडीजी कोर्ट में ट्रायल शुरु हो चुकी है. हालांकि, घटना की जांच धीमी गति से चलने की वजह से 1 साल में भी गवाहों के बयान नहीं कराए जा सके हैं. पुलिस की ओर से फिलहाल अपराधियों पर चार्ज लगा दिए गए हैं. मामले में जांच अधिकारी वीरसिंह ने जनवरी में चार्जशीट पेश कर दी थी. 9 अक्टूबर को मामले की अगली सुनवाई है, लेकिन धीमी जांच के चलते परिजन मायूस है.