कोरोना का असर: इस शहर में खास अंदाज में मनाया जाएगा रक्षाबंधन

कोरोना का असर इस बार रक्षाबंधन के त्योहार पर भी देखने को मिल रहा है. कई ऐसे भाई-बहन हैं जो इस त्योहार को मनाने से वंचित रहने वाले हैं.

कोरोना का असर: इस शहर में खास अंदाज में मनाया जाएगा रक्षाबंधन
प्रतीकात्मक तस्वीर 

चंडीगढ़ः कोरोना (Coroanvirus) का असर इस बार रक्षाबंधन के त्योहार पर भी देखने को मिल रहा है. कई ऐसे भाई-बहन हैं जो इस त्योहार को मनाने से वंचित रहने वाले हैं. ऐसे में वह बहनें जो अपने भाई को राखी बांधने नहीं जा पा रही हैं उनके लिए चंडीगढ़ प्रसाशन ने खास व्यवस्था की है. प्रशासन महिलाओं के लिए पेड़ को राखी बांधने के कार्यक्रम का आयोजन करेगी. इस पर्व को पर्यावरण से जोड़ने की पहल कर लोगों पर्यावरण से जोड़ेगी.

चंडीगढ़ प्रशासन ने पहली बार पेड़ को राखी बांधने की व्यस्था लोगों के लिए की है यह व्यस्था दो स्थानों पर सुखना लेक और बोटानिकल गार्डन में की जाएगी. बहनें पेड़ को राखी बांधकर भाई- के प्रति अपने प्यार को प्रगाढ़ करेंगी. 

ये भी पढ़ें- योगी सरकार ने रक्षाबंधन पर दिया बहनों को तोहफा, जानें सरकार के 2 बड़े फैसले

चंडीगढ़ प्रशासन ने कोरोना काल की वजह से यह व्यस्था इसलिए की है क्यूंकि कोरोना के खतरे के चलते  बहुत सारी बहने या भाई रक्षा बंधन पर एक दूजे के पास आ जा नहीं सकेंगे. चंडीगढ़ के डिप्टी कंज़र्वेटर ऑफ़ फारेस्ट डाक्टर अब्दुल कयूम ने बताया कि कोरोना काल में पर्यावरण के प्रति जोड़ने के लिए पहली बार यह कोशिश की जा रही है. लोगों को इस कोशिश में जोड़ने के लिए प्रशासन ने प्रोत्साहित किया है.

पेड़ को राखी बांधने के साथ ही लोग एक कागज पर पेड़-पौधों और पर्यावरण की  रक्षा करने की शपथ लेंगे. पेड़ को राखी बांधते हुए सेल्फी भी लेंगे. प्रशासन इनमे से सबसे बेहतरीन का चुनाव करके लोगों को प्रोत्साहित  करेगा. फिलहाल चंडीगढ़ प्रशासन के इस फार्मूले से ना केवल कोरोना से सावधानी रहेगी बल्कि लोग रक्षा बंधन के साथ-साथ पर्यावरण के प्रति भी फिक्रमंद होंगे.