डी-कंपनी में खींचतान, छोटा शकील और अनीस इब्राहिम में हो सकती है वर्चस्‍व की लड़ाई!

डी-कंपनी पर नजर रखने वाले पुलिस सूत्रों की मानें तो डॉन का भाई अनीस इब्राहीम अपने बेटे का रिश्ता फहीम मचमच की बेटी से रचाना चाहता है. ऐसा हुआ तो फहीम मचमज का डी- कंपनी में कद और बढ़ सकता है. यही बात छोटा शकील को खटकने लगी है.

डी-कंपनी में खींचतान, छोटा शकील और अनीस इब्राहिम में हो सकती है वर्चस्‍व की लड़ाई!
फाइल फोटो

अहसान अब्‍बास, मुंबई : अंडरवर्ल्ड अपराधी दाउद इब्राहीम की डी-कंपनी में कोल्ड वॉर तेज हो गया है. दाउद का भाई अनीस इब्राहीम अपने बेटे की शादी डी-कंपनी के दूसरे गुर्गे फहीम मचमच की बेटी से रचाने की तैयारी कर रहा है. इस खबर से दाउद इब्राहीम का खास छोटा शकील डी-कंपनी में खुद को अलग थलग पड़ने के डर से नाराज हो गया है. डी-कंपनी पर नजर रखने वाले पुलिस सूत्रों की मानें तो डॉन का भाई अनीस इब्राहीम अपने बेटे का रिश्ता फहीम मचमच की बेटी से रचाना चाहता है. ऐसा हुआ तो फहीम मचमज का डी- कंपनी में कद और बढ़ सकता है. यही बात छोटा शकील को खटकने लगी है.

सूत्र बताते हैं कि अगर बात यूं ही बढ़ी तो डी कंपनी का खास छोटा शकील अपने नये रास्ते तय कर सकता है. छोटा शकील और अनीस इब्राहीम के बीच में अनबन खासी पुरानी है, जिसे दूर करने के लिये दाउद इब्राहीम वक्त वक्त पर छोटा शकील और अनीस के बीच मनमुटाव दूर करने खुद आगे आता है. छोटा शकील डी-कंपनी में दाउद के शुरुआती वक्त से ही बड़ा कद रखता है. हालांकि दाउद इब्राहीम की बढती उम्र के साथ ही डी-कंपनी के अगले वारिस को लेकर कुख्यात कंपनी में उठापटक तेज होती आई है.

दाउद इब्राहीम ने डी- कंपनी में छोटा शकील को जिम्मेदारियां सौंपने के साथ ही अपने भाईयों पर भी कुख्यात कंपनी की जिम्मेदारियां बढाईं है, जिससे छोटा शकील पहले ही असहज महसूस कर रहा है. फहीम मचमच और छोटा शकील डी-कंपनी के पुराने साथी हैं. अब अनीस इब्राहीम के फहीम मचमच को रिश्तेदार बनाने की तैयारियों से छोटा शकील डी -कंपनी में अपने भविष्य को लेकर और भी परेशान बाताय जा रहा है. मुंबई अंडरवर्ल्ड को हमेशा से करीब से देखने वाले वरिष्ठ पत्रकार बालाकृष्णन मानते हैं कि अनीस और छोटा शकील के बीच मनमुटाव है.

बालाकृष्णन ने कहा कि डी-कंपनी में मनमुटाव तो है. अनीस और फहीम मचमच के करीब आने से छोटा शकील का डी कंपनी में कद कम नहीं होगा. ऐसा लगता है और आईएसआई भी नहीं चाहेगी कि डी कंपनी में कोई मनमुटाव इस हद तक बढे कि कंपनी के टुकडे हों.  फहीम मचमच गाहे बगाहे मुंबई के बिल्डरों और फिल्मी हस्तियों को फोन कर धन उगाही के मन्सूबे से धमकाता रहा है. विदेश में रह रहा फहीम मुंबई में अपनी धमक बनाये रखना चाहता है. हालांकि डी-कंपनी में फहीम का उतना बडा कद नहीं रहा है.  

1993 मुंबई सीरियल ब्लास्ट केस में वांटेड अनीस इब्राहीम पाकिस्तान के कराची में अपने भाई दाउद इब्राहीम के साथ ही सपरिवार रहता है. मुंबई से 80 के दशक में अरब अमीरात भागा अनीस इब्राहीम 1997 में यूएई में इरफान गोगा मर्डर केस मामले में दुबई की सुरक्षा एजेंसियों के हत्थे भी चढा था.  हालांकि डी-कंपनी के रसूख के चलते वो छूट गया और उसने पाकिस्तान की पनाह ले ली. तब से ही दाउद की डी कंपनी के काले कामकाज को कराची से ही संचालित होने में हाथ बंटाता रहा है. लेकिन डी कंपनी का असली चेहरा छोटा शकील ही बना रहा.

छोटा शकील पहले भी साफ कर चुका है कि डी कंपनी में वह महज एक ही भाई को भाई मानता है और वो है दाउद इब्राहीम. किसी दूसरे का नाम भी वो नहीं  सोचता है. सूत्रों की मानें तो फहीम से रिश्ता जोड कर डी कंपनी के करीब लाने की अनीस इब्राहीम की योजना पर छोटा शकील मन ही मन आग बबूला बैठा है. सूत्र तो यहां तक मानते हैं डी - कंपनी में छोटा शकील की ये नाराजगी बढी तो कंपनी में दो फाड होने से इंकार नहीं किया जा सकता है. इसका सीधा असर मुंबई पर भी पड सकता है जहां छोटा शकील सीधे तौर पर दखल रखता है.

पूर्व पुलिस आई.जी.पी. एस सुराडकर का दावा है कि डी -कंपनी देश में खासी कमजोर पड गयी है. लिहाजा डी कंपनी में आपसी घमासान का भारत में असर ना के बराबर पडेगा. एस.सुराडकर, पूर्व पुलिस अफसर ने कहा कि मुंबई डी कंपनी में छोटा शकील हो या दाउद का कोई और गुर्गा. मुंबई की पुलिस में उसकी सांठगांठ खत्म हो चुकी है. और पुलिस चाह जाये तो वो कितना भी हाथपांव मारें कुछ नहीं कर सकते हैं.

छोटा शकील और उसके काले कारनामे
शकील बाबू मियां शेख-  अंडरवर्लड में छोटा शकील नाम से कुख्यात है. छोटा शकील के पिता का नाम मोईनुद्दीन शेख है. वह मुंबई में पैदा हुआ था और मध्य मुंबई के इलाकों में छुटपुट क्राइम से अंडरवर्ल्ड में अपने कदम रखे. देखते ही देखते दाउद इब्राहीम की डी कंपनी में छोटा शकील का सिक्का चलने लगा. छोटा शकील पाकिस्तान के कराची में डिफेंस एरिया में अपनी बीवी एक बेटे और दो बेटियों के साथ रहता है. माफिया डान छोटा शकील 93 मुंबई सिरियल बम धमाके के मुख्य आरोपियों में से एक है, जिसकी भारतीय सुरक्षा एजेंसियों को तलाश है.

 

डी कंपनी की दाउद इब्राहीम की कास्कर फैमिली
दाउद इब्राहीम का पिता मुंबई पुलिस की सीआईडी ब्रांच में रह चुका है. दाउद इब्राहीम कास्कर बासठ साल पार कर चुका है. दाउद पाकिस्तान के कराची में आईएसआई की निगरानी मे आलीशान महल में रहता है. अंडरवर्ल्ड की दुनिया में मुच्छड के नाम से जाना जाता है. दाउद कराची में अपनी बीवी जुबीन के साथ रहता है. दाउद का बेटा मोईन  बेहद धार्मिक माना जाता है लिहाजा दाउद के काले कारोबार से वो दूर बताया जाता है. दाउद एक बेटी महरुख की शादी पाकिस्तान के क्रिकेटर जावेद मियांदाद के बेटे से हुई है जबकि दूसरी बेटी महरीन की शादी अमेरिका के एक व्यवसायी के बेटे से हुई है.

साबिर कास्कर - दाउद इब्राहीम का भाई साबिर कास्कर 1984 में  मुंबई में पठान गैंग के हाथों मारा गया था.
इकबाल कास्कर - ये दाउद का दूसरा भाई है. इकबाल को 2003 में भारत लाया गया और बाद में मुंबई के सारा सहारा केस में अदालत से बरी कर दिया गया. मुंबई में रह रहे इकबाल कास्कर तो पिछले साल एक बिल्डर को धमकाकर वसूली के आरोप मे थाणे एंटी एक्सटार्शन सेल ने धर दबोचा अब वो जेल की सलाखों के पीछे हैं.
नूरा कास्कर - दाउद के भाई नूरा कास्कर की मौत कराची में 2009 में मौत हो गयी थी वो डी कंपनी के काले कारोबार का खासकर बालीवुड आपरेशन देखता था.
अनीस इब्राहीम कास्कर- दाउद का भाई अनीस इब्राहीम कराची में दाउद के साथ रहता है. डी कंपनी की स्मग्लिंग और नारकोटिक्स के काले कारोबार को अनीस संभालता है. हालांकि मौजूदा वक्त में अनीस इब्राहीम डी कंपनी में दखल बढा रहा है.
हुामयूं इब्राहीम कास्कर - दाउद का भाई हुमायूं दुबई में रहता है और कहते है कि वो डी कंपनी के काले कामों से खुद को दूर रखता है.
हसीना पारकर - 2014 में हर्ट अटैक में मौत हुई. दाउद की बहन हसीना पारकर मध्यमुंबई में ही रहती थी.उस पर एक बालीवुड फिल्म भी बनी.