close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

RSS विजयादशमी: संघ प्रमुख ने कहा, 'संघ हिंदुओं की बात करता है, मुसलमानों का विरोध नहीं करता है'

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, नागपुर महानगर द्वारा आयोज़ित विजयादशमी उत्सव और शस्त्रपूजन आज सुबह 7.40 बज़े रेशमबाग मैदान पर संपन्न हुआ.

RSS विजयादशमी: संघ प्रमुख ने कहा, 'संघ हिंदुओं की बात करता है, मुसलमानों का विरोध नहीं करता है'

नागपुर: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के मुख्यालय नागपुर में विजयादशमी (Vijayadashami 2019) उत्सव मनाया जा रहा है. इस मौके पर संघ प्रमुख मोहन भागवत ने सुबह 7.40 पर शस्त्र पूजन किया. इससे पहले कार्यक्रम का प्रारंभ पथसंचलन सें हुआ. संघ के विजयादशमी  उत्सव में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, केंद्रीय मंत्री वीके सिंह और महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस शामिल हुए. इस वर्ष के कार्यक्रम में शिव नाडर, अध्यक्ष एवं संस्थापक HCL, मुख्य अतिथि के रूप में हिस्सा लिया.

सरसंघचालक मोहन भागवत ने अपने संबोधन में कहा कि यह साल कई वजहों से याद रखा जाएगा. इस साल जनता ने एक बार फिर से देश की सरकार पर विश्वास व्यक्त किया है. कई कठोर निर्णयों को जनता की सिद्धी प्राप्त हुई है. मजबूत फैसलों की वजह से 2014 से बड़ा जनादेश 2019 में मिला.

मोहन भागवत ने कहा, 'साहसी और कठोर फैसले लेने की क्षमता इस सरकार में है. जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 को लेकर प्रधानमंत्री और गृह मंत्री का कार्य प्रशंसनीय है. इस देश में दो विधान, दो प्रधान और दो संविधान नहीं हो सकता है. मिशन चंद्रयान ने अच्छी सफलता हासिल की.'

संघ प्रमुख ने कहा कि संघ हिंदुओं की बात मुस्लिमों का विरोध नहीं करता है.

देश की सुरक्षा बेहतर 
संघ प्रमुख ने कहा, 'सेना का मनोबल उत्तम है. सुरक्षा तैयारियां अच्छी है इसका उदाहरण मिल चुका है.देश में आतंकवादी घटनाएं कम हुई है.'

देश तोड़ने वालों पर निशाना
मोहन भागवत ने कहा कि दुनिया और देश में ऐसे भी लोग है जिनको भारत का मान सम्मान नहीं चाहिए. भारत का नाम दुनिया में ऊंचा नहीं चाहिए, इसके लिए ऐसे लोगों के कारनामे भारत में चलते हैं. देशहित की भावना उन लोगों में नहीं होती है. ऐसी शक्तियां समाज में दूरियां बढ़ाती है. विविधताओं को भड़काती हैं. समाज की दूरियां बढ़ाती है. तरह तरह के असंतोषों को लोगों को मनों में भड़काना. ऐसे लोगों का प्रतिकार हमको करना पड़ेगा.

कुछ ताकतें देश में रहकर देश विरोध के काम करती है. कहीं भी अलग अलग पहचान वाले लोग इतनी शांति से एक साथ रहते हो ऐसा भारत के बाहर कोई उदाहरण नहीं है. एक तो संपूर्ण समाज में हमको सद्भाव उत्पन्न करने का काम करना पड़ेगा. संघ के स्वयंसेवक इस काम में पहले से ही लगे है. परंतु सबको इसकी चिंता करनी पड़ेगी. हमारा सारा व्यवहार पूरे देश को जोड़ने वाला होना चाहिए. जहां अमंगल है वहां मंगल करने का प्रयास करना चाहिए. जहां भी जाएंगे वहां कानूनों का पालन करके ही हमें चलना है. कितना भी उकसावा हो मर्यादा के बाहर नहीं जाना है. 

LIVE टीवी:

लिंचिंग के नाम पर देश में साजिश हो रही है
लिंचिंग जैसे शब्द भारतीय संस्कृति में नहीं रहे हैं. मॉब लिंचिंग के नाम पर भारत को दुनिया में बदनाम किया जा रहा है. संघ के कार्यकर्ता हमेशा हिंसा की घटनाओं को रोकने का काम करते है. मॉब लिंचिंग के नाम पर देश में साजिश रची जा रही है. हिंसक घटनाओं में दोषी जो भी हो उसे कानून के मुताबिक सजा मिलनी चाहिए.अब अपना समाज है, अपना देश एक है. 

अर्थव्यवस्था को लेकर गलत धारणा नहीं बनने दें
मंदी जैसी बात ग्रोथ रेट शून्य से नीचे जाने पर कही जाती है. हमारी तो ग्रोथ रेट 5 पर है. सरकार ने इस विषय पर संवेदनशीलता का उदाहरण दिया है. लेकिन अकेले सरकार उपाय नहीं कर सकती है. हम सबको सब उपाय करने होंगे. अमेरिका चीन की भी स्पर्धा चलती रहती है वह भी उपाय करती है. आर्थिक मामलों में सरकार अच्छे फैसले ले रही है. हमारे आर्थिक क्षेत्र में हस्तियां मजबूत है. आज हमारे बीच शिव नडार जी है, हमारे समाज में ऐसे बहुत से लोग है जो केवल अपना ध्यान नहीं रखते है अपनी आय का देशहित के लिए लगाते हैं.