close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अनुच्छेद 370-राष्ट्रवाद नहीं स्थानीय मुद्दों पर कांग्रेस लड़ेगी निकाय चुनाव: सचिन पायलट

राजस्थान कांग्रेस अध्यक्ष और उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने जयपुर(Jaipur) के आवास पर जनसुनवाई कार्यक्रम के दौरान मीडिया से बातचीत में यह बातें कही.

अनुच्छेद 370-राष्ट्रवाद नहीं स्थानीय मुद्दों पर कांग्रेस लड़ेगी निकाय चुनाव: सचिन पायलट
राजस्थान के उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट.

जयपुर: उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट (Sachin Pilot) ने निकाय चुनाव (Civic elections) के दौरान अनुच्छेद 370 (Article 370) और राष्ट्रवाद (Nationalism) की जगह स्थानीय मुद्दों पर चुनाव लड़ने की बात कही है. पायलट ने यह बात जयपुर(Jaipur) के आवास पर जनसुनवाई कार्यक्रम के दौरान मीडिया से बातचीत में कही. 

उन्होंने कहा कि जनता के जनादेश का अपमान नहीं होना चाहिए. जिस उम्मीद के साथ जनता ने हमारी सरकार बनाई. उन मुद्दों को पूरा कर रहे हैं. उन्होंने यह भी कहा कि जितना संभव है उससे ज्यादा हो विकास कार्य हो रहे हैं. पायलट ने विधासनभा उपचुनाव (Rajasthan Vidhansabha By Elections 2019) में विकास के मुद्दे पर जनता का वोट मिलने की बात कही.

पायलट ने सतीश पूनिया (Satish Poonia) के कांग्रेस मुक्त राजस्थान के बयान का भी जवाब दिया. पायलट ने कहा कि कि किसी भी नेता को जनादेश का अपमान नहीं करना चाहिए. जनता ने कांग्रेस पार्टी को सत्ता सौंपी है और हम हर संभव प्रयास कर रहे हैं कि राजस्थान के प्रत्येक क्षेत्र में विकास कार्य हो.

उन्होंने कहा कि सतीश पूनिया को नई जिम्मेदारी मिली है,  लिहाजा वे जनता और अपनी पार्टी में पैठ बनाने के लिए इस तरह के बयानबाजी कर रहे हैं. 

पायलट ने यह भी कहा की कांग्रेस सरकार में आने के बाद भी बीजेपी की योजनाओं को सुचारू तौर पर चलाया जा रहा है लेकिन कांग्रेस सरकार आने के बाद बीजेपी के सांसद किसी भी गांव को गोद लेने में इच्छुक नजर नहीं आ रहे. कई सांसदों को चिट्ठी लिखी गई है लेकिन उसके बावजूद इस तरफ से उनकी उदासीनता बरकरार है. पायलट मंडावा और खींवसर विधानसभा के उपचुनाव में कांग्रेस के जीत के प्रति आश्वस्त नजर आए.

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष की भी जिम्मेवारी संभाल रहे सचिन पायलट के आवास पर जन सुनवाई कार्यक्रम के दौरान प्रदेश के विभिन्न जिलों से आए लोगों ने पायलट को ज्ञापन सौंपा. इस दौरान स्थानीय समस्याओं के अलावा बड़ी संख्या में तबादलों को लेकर भी पायलट को ज्ञापन दिए गए.