संगरूरः मीटर चेक करने गांव पहुंचे थे बिजली विभाग के कर्मचारी, गुस्साए किसानों ने बनाया बंधक

घटना संगरूर के नागरा गांव की है, जहां गांव के लोगों और किसान यूनियन की ओर से बिजली विभाग के 3 कर्मचारियों को बंदी बना लिया गया, जिसमें बिजली विभाग सुनाम के 1 एसडीओ और 2 जेई शामिल है.

संगरूरः मीटर चेक करने गांव पहुंचे थे बिजली विभाग के कर्मचारी, गुस्साए किसानों ने बनाया बंधक

(कीर्ति पाल)/संगरूरः पंजाब के संगरूर में बिजली मीटरों की चेकिंग करने आई टीम के तीन कर्मचारियों को किसान यूनियन ने बंधक बना लिया, जिसके बाद कर्मचारियों को छुड़ाने के लिए भवानीगढ़ पुलिस मौके पर पहुंची और बंधक बनाए गए कर्मचारियों को किसान यूनियन की जद से छुड़ाया गया. घटना संगरूर के नागरा गांव की है, जहां गांव के लोगों और किसान यूनियन की ओर से बिजली विभाग के 3 कर्मचारियों को बंदी बना लिया गया, जिसमें बिजली विभाग सुनाम के 1 एसडीओ और 2 जेई शामिल है.

बिजली विभाग की एक टीम गांव में लगे बिजली के मीटर की चेकिंग करने आई थी, जिसमें बिजली विभाग के उच्च अधिकारी एक्सईएन एसडीओ जेई और दूसरे कर्मचारी शामिल थे. गांव के लोगों के अनुसार छह लोग 5:00 बजे गांव में आए और लोगों के घरों के बाहर लगे बिजली के मीटर चेक कर रहे थे, तो उन्होंने गांव में से 2 घरों के बिजली के मीटर उखाड़ करोड़ की बिजली बंद कर दी. जिसके बाद किसान यूनियन के के लोग इकट्ठा हुए और उन्होंने इन लोगों को आकर वही घेर लिया और इनकी एक टीम जिसमें बिजली विभाग के एक्सियन शामिल थे, वह वहां से निकल गए.

देखें लाइव टीवी

सूचना मिलते ही पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे, जिनका कहना है कि उन्हें बिजली विभाग के एक्सियन की ओर से सूचना मिली थी कि उनके कुछ साथियों को गांव के लोगों ने घेर रखा है. जोकि रूटीन में बिजली मीटरों की चेकिंग करने के लिए आए थे, उधर किसानों का कहना है कि हम इन्हें तब तक नहीं छोड़ेंगे जब तक घरों के बाहर से उतारे गए बिजली के मीटर दोबारा नहीं लगाए जाते. किसानों का कहना है गांव नागरा में देर शाम बिजली विभाग के कर्मचारी मीटर चेकिंग करने के लिए आए थे, जिन्होंने चैटिंग करते-करते 7:00 बजे दो घरों के बाहर लगे बिजली के मीटर उतार लिए. जब इसकी सूचना हमें मिली तो हम मौके पर पहुंचे तो हमने इनके तीन कर्मचारियों को घेर लिया.

UP की जनता को एक बार फिर लगेगा झटका, जल्द लागू होगा बिजली दर का नया टैरिफ

Sangrur: Farmers hostage employees of electricity department

डूंगरपुर में 98 फीसदी बीपीएल परिवारों के घर हुए रौशन, बिजली विभाग ने कहा...

मौके पर पहुंची पुलिस अधिकारी का कहना है कि बिजली विभाग के कर्मचारी सरप्राइस चेकिंग के लिए गांव में आए थे. हमें बिजली विभाग के एक्सियन की ओर से सूचना दी गई कि उनके कुछ कर्मचारी लोगों की ओर से घेर लिए गए हैं. जिसके चलते हम मौके पर आए और बिजली कर्मचारियों को छुड़ाया.