close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

संजय राउत ने कहा, 'शिवसेना चाहे तो सरकार बनाने के लिए जुटा सकती है जरूरी आंकड़ा'

संजय राउत ने कहा कि 'जनता ने राज्य में 50-50 फॉर्मूले के आधार पर सरकार बनाने के लिए जनादेश दिया है. उन्हें शिवसेना से सीएम चाहिए.'

संजय राउत ने कहा, 'शिवसेना चाहे तो सरकार बनाने के लिए जुटा सकती है जरूरी आंकड़ा'

मुंबई: महाराष्ट्र (Maharashtra) में सरकार गठन के लिए 50-50 फॉर्मूले पर अड़ी शिवसेना (Shiv Sena) के तेवर तल्ख होते जा रहे हैं. शुक्रवार को शिवसेना नेता संजय राउत (Sanjay Raut) ने कहा कि अगर शिवसेना चाहे तो वह सरकार बनाने के लिए जरूरी संख्या बल जुटा लेगी. 

संजय राउत ने कहा, 'अगर शिवसेना ने चाहे तो वह राज्य में स्थिर सरकार बनाने के लिए जरूरी संख्याबल जुटा लेगी. जनता ने राज्य में 50-50 फॉर्मूले के आधार पर सरकार बनाने के लिए जनादेश दिया है. उन्हें शिवसेना से सीएम चाहिए.'

इससे पहले गुरुवार को शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे विधायक दल की बैठक में कहा था कि हम सत्ता के भूखे नहीं है लेकिन बीजेपी से जो बात हुई उसे उस बात का पालना करना चाहिए. मुख्यमंत्री का पद हमेशा किसी एक व्यक्ति के लिये कायम नहीं रहता. हमारी संख्याबल अच्छी है. मुख्यमंत्री पद हमारा हक है और ये हमारी जिद्द है.

उन्‍होंने कहा कि लोकसभा के समय 50-50 फॉर्मूला का जो तय हुआ, बीजेपी (BJP,) को वह नहीं मान्य है तो क्या बात करूं. नए सिरे से बात नहीं होगी जो तय हुआ है उसी से बात शुरू होगी. उन्होंने अपने विधायकों को कहा कि सत्ता के लिए आप कोई गलत कदम नही उठाओगे मुझे विश्वास है.

'सरकार के गठन पर अंतिम फैसला उद्धव करेंगे'
वहीं महाराष्ट्र में सत्ता को लेकर खींचतान के बीच शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे ने गुरुवार शाम को कहा कि सरकार गठन में देरी अच्छी नहीं है. बीजेपी से बातचीत के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी की भाजपा से कोई बातचीत नहीं हुई है. हालांकि, उन्होंने कहा कि उनके पिता व सेना प्रमुख उद्धव ठाकरे सरकार के गठन पर अंतिम फैसला लेंगे. आदित्य ठाकरे, राज्यपाल बी. एस. कोश्यारी से मुलाकात के बाद मीडिया से बातचीत कर रहे थे. उन्होंने मीडिया से कहा कि उन्होंने 'किसानों के मुद्दों पर चर्चा की.' 

एकनाथ शिंदे बने शिवसेना विधायक दल के नेता 
शिवसेना ने गुरुवार को एकनाथ शिंदे को विधायक दल का नेता चुन लिया. पार्टी ने जल्द ही महाराष्ट्र के राज्यपाल के साथ अपनी बैठक की घोषणा भी की. आदित्य ठाकरे ने विधायक दल के नेता पद के लिए शिंदे का नाम और और मुख्य सचेतक पद के लिए सुनील प्रभु का नाम प्रस्तावित किया.

आदित्य ठाकरे ने ट्वीट किया, "एक निर्वाचित विधायक के रूप में यह मेरा विशेषाधिकार था कि मैं विधायकों के लिए काम करने के लिए शिवसेना संसदीय दल के नेता के रूप में एकनाथ जी का नाम प्रस्तावित करूं. सुनील प्रभु जी को विधायिका के लिए पार्टी के मुख्य सचेतक के रूप में चुना गया है."