close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

महाराष्ट्र: बाढ़ पीड़ितों के लिए आगे आया शिरडी साईंबाबा संस्थान, 10 करोड़ की मदद का किया ऐलान

महाराष्ट्र में भारी बारिश के चलते जनजीवन बेहाल है. बारिश और बाढ़ से परेशान लोगों की मदद के लिए शिरडी साईंबाबा संस्थान आगे आया है. शिरडी साईंबाबा संस्थान ने बाढ़ग्रस्त इलाकों के लिए 10 करोड़ की मदद राशि देने का ऐलान किया है.

महाराष्ट्र: बाढ़ पीड़ितों के लिए आगे आया शिरडी साईंबाबा संस्थान, 10 करोड़ की मदद का किया ऐलान
शिरडी साईंबाबा संस्थान ने बाढ़ग्रस्त इलाकों के लिए 10 करोड़ की मदद राशि देने का ऐलान किया (फोटो साभार: ANI)

प्रशांत शर्मा, शिरडी: देश के दक्षिणी राज्‍यों में बारिश और बाढ़ का कहर जारी है. तेज बारिश और बाढ़ के कारण महाराष्‍ट्र में अब तक 30 लोगों की मौत हो चुकी है. इसके अलावा केरल में 42 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है. महाराष्ट्र में भारी बारिश के चलते जनजीवन बेहाल है. बारिश और बाढ़ से परेशान लोगों की मदद के लिए शिरडी साईंबाबा संस्थान आगे आया है. शिरडी साईंबाबा संस्थान ने बाढ़ग्रस्त इलाकों के लिए 10 करोड़ की मदद राशि देने का ऐलान किया है.

 

मुख्यमंत्री सहायता निधि में जमा कराई जाएगी राशि
आपको बता दें कि यह जानकारी शनिवार को शिरडी साईंबाबा संस्थान के अध्यक्ष सुरेश हावरे ने दी थी. बताया जा रहा है कि धार्मिक संस्थान की तरफ से दी जा रही है 10 करोड़ के राशि की यह मदद मुख्यमंत्री सहायता निधि में जमा कराई जाएगी. आपको बता दें कि बाढ़ से पश्चिम महाराष्ट्र के कोल्हापुर, सांगली, सातारा जिले का जनजीवन काफी रूप से प्रभावित हुआ है. इसे देखते हुए ही शिरडी साईंबाबा संस्थान ने 10 करोड़ की मदद की घोषणा की गई है. 

 

पश्चिम महाराष्ट्र के कई जिलों का जनजीवन है प्रभावित
आपको बता दें कि पश्चिम महाराष्‍ट्र के कई जिले बाढ़ की चपेट में हैं. यही वजह है कि मुख्‍यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने शनिवार को बाढ़ प्रभावित दोनों जिलों सांगली और कोल्‍हापुर का दौरा किया. उन्‍होंने दोनों जिलों की स्थिति की समीक्षा भी की. मुख्यमंत्री से पहले महाराष्ट्र के जलसंसाधन मंत्री गिरीश महाजन भी बाढ़ग्रस्त इलाकों का दौरा कर चुके हैं. हालांकि उनका दौरा थोड़ा विवादास्पद भी रहा था. दरअसल, उनका एक सेल्फी वीडियो सामने आया था जिसमें वे कुछ पुलिस अधिकारियों के साथ हंसते हुए नजर आ रहे थे. कांग्रेस के कुछ नेताओं ने इस मुद्दे को लेकर राज्य सरकार पर जमकर निशाना साधा था.