close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

शिवसेना की मांग बढ़ी, लोकसभा में डिप्टी स्पीकर के साथ राज्यपाल और कैब‍िनेट में मांगी और जगह

शिवसेना मोदी सरकार मे कैबिनेट मे अहम मंत्रालय हासिल करने के चक्कर में है. शिवसेना के कैबिनेट मंत्री अरविंद सावंत के पास हैवी इंडस्ट्री मिनिस्ट्री है, शिवसेना कोई और अहम मंत्रालय हासिल करने की जुगत में है.

शिवसेना की मांग बढ़ी, लोकसभा में डिप्टी स्पीकर के साथ राज्यपाल और कैब‍िनेट में मांगी और जगह

मुंबई: शिवसेना ने नरेन्द्र मोदी सरकार के सामने नई चुनौती खड़ी कर दी है. शिवसेना ने लोकसभा में डिप्टी स्पीकर की कुर्सी माँगी है. इसके साथ ही शिवसेना राज्यपाल और केंद्र में एक और मंत्री पद की भी मांग की है. संसद के बजट सत्र से ठीक पहले शिवसेना ने बीजेपी के सामने ये मांगें पेशकर नया पेंच फंसा दिया है.

संसद का बजट सत्र 17 जून से शुरू हो रहा है और 19 जून को स्पीकर का चुनाव होना है. इस बीच  शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे अपने सांसदों समेत अयोध्या कूच करने का भी एलान कर दिया है. ये मांगें उठाकर, माना जाता है कि शिवसेना बीजेपी पर दबाव बना रही है.

शिवसेना मोदी सरकार मे कैबिनेट मे अहम मंत्रालय हासिल करने के चक्कर में है. शिवसेना के कैबिनेट मंत्री अरविंद सावंत के पास हैवी इंडस्ट्री मिनिस्ट्री है, शिवसेना कोई और अहम मंत्रालय हासिल करने की जुगत में है.

विधानसभा चुनावों में ज्‍यादा सीटें हासिल करने की तैयारी में
शिवसेना को मालूम है कि एनडीए का बड़ा घटक जनता दल यूनाइटेड मोदी सरकार में शामिल नहीं हुआ है. इस हालत मे बीजेपी पर शिवसेना ने दबाव का दांव चला है. शिवसेना इस पैंतरेबाजी से महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में ज्यादा सीटें माँगने की जमीन तैयार कर रही है.

बीजेपी लड़ना चाहती है बराबर सीटों पर चुनाव
दरअसल बीजेपी विधानसभा चुनाव में शिवसेना के साथ मिलकर चुनाव में कूदने के ऐलान के साथ ही 135  सीटें शिवसेना  को और 135 सीट पर बीजेपी  खुद चुनाव लड़ने की तैयारी में है.  बची हुई 18 सीटें छोटे सहयोगी दलों को देने की पेशकश कर रही है. शिवसेना को इस फार्मूले पर एतराज है. यही वजह है कि शिवसेना बीजेपी पर दबाव की राजनीति कर रही है.

महाराष्‍ट्र में 48 में से 41 सीटें एनडीए के कब्‍जे में
लोकसभा चुनावों में बीजेपी और शिवसेना ने शानदार प्रदर्शन करते हुए महाराष्‍ट्र की 48 में से 41 सीटें हासिल कर ली हैं. बीजेपी ने 23 औ शि‍वसेना ने 18 सीटें हासिल की हैं. एनडीए में शिवसेना दूसरी सबसे ज्‍यादा सीटें जीतने वाली पार्टी है. जेडीयू के पास 16 सीटें हैं.