Breaking News
  • डोनाल्‍ड ट्रंप का भारत आना यादगार है: पीएम नरेंद्र मोदी
  • अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने कहा- लव यू इंडिया
  • निर्भया मामले में दायर केंद्र सरकार की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट 5 मार्च को दोपहर 3 बजे सुनवाई करेगा
  • दिल्‍ली में हिंसा: CM अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मैं दिल्‍लीवालों से शांति की अपील करता हूं
  • सुप्रीम कोर्ट में 6 जज स्‍वाइन फ्लू की चपेट में

शिवसेना के नाराज राज्यमंत्री अब्दुल सत्तार आए सामने, कहा- 'मैंने इस्तीफा नहीं दिया है'

महाराष्ट्र में महा विकास आघाडी की मुसीबत बढ़ गई है.

शिवसेना के नाराज राज्यमंत्री अब्दुल सत्तार आए सामने, कहा- 'मैंने इस्तीफा नहीं दिया है'

मुंबई: महाराष्ट्र में महा विकास अघाड़ी की सरकार में शिवसेना कोटे से राज्य मंत्री अब्दुल सत्तार का कहना है कि उन्होंने इस्तीफा नहीं दिया है. वह पार्टी अध्यक्ष उद्धव ठाकरे से मातोश्री में मिलकर अपनी भूमिका स्पष्ट करेंगे. इससे पहले खबर थी कि अब्दुल सत्तार कैबिनेट मंत्री की जगह राज्यमंत्री बनाए जाने से नाराज हैं. उनके इस्तीफा देने की भी खबर थी, लेकिन अब्दुल सत्तार ने इस्तीफा देने की बात को खारिज कर दिया है

अब्दुल सत्तार को मनाने के लिए औरंगाबाद में पार्टी के कई वरिष्ठ नेताओं ने मुलाकात की थी. सत्तार के नए बयान को देखकर लगता है कि पार्टी उन्हें मनाने में फिलहाल कामयाब रही है.

इस्तीफे की अफवाहों के बीच राज्यमंत्री अब्दुल सत्तार को लेकर शिवसेना ने तीखी प्रतिक्रिया दी. शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा है कि अब्दुल सत्तार असली शिवसैनिक नहीं है.

एनसीपी की कांग्रेस को चेतावनी, 'वीर सावरकर पर विवादित बुकलेट को वापस लिया जाए'

संजय राउत ने ज़ी मीडिया संवाददाता से बात करते हुए कहा, 'जो अभी नाराज दिख रहे हैं वो पहले से शिवसैनिक नहीं है, उनके इस्तीफा देने की मुझे जानकारी नहीं है. इस्तीफा मुख्यमंत्री राजभवन को जाता है लेकिन ऐसा नहीं हुआ है. वह पहली बार पार्टी में आए हैं, फिर भी अब्दुल सत्तार को मंत्रिमंडल मे हमने एडजेस्ट किया. हमें पूरा भरोसा है कि अब्दुल सत्तार शिव बंधन को नहीं छोड़ेंगे.'

अनिल देसाई को अपना इस्तीफा सौंपा
ऐसा बताया जा रहा है कि सत्तार ने शिवसेना नेता अनिल देसाई को अपना इस्तीफा सौंप दिया है.लेकिन महाराष्ट्र के गृह मंत्री एकनाथ शिंदे ने अब्दुल सत्तार का इस्तीफा नहीं मिलने की बात कही है. शिंदे ने कहा, 'अब्दुल सत्तार का इस्तीफा नहीं मिला है.' शिंदे ने यह भी बताया कि महाराष्ट्र में मंत्रिमंडल के विभागों का बँटवारा किसी भी वक्त हो सकता है. बता दें 30 दिसंबर को उद्धव ठाकरे सरकार का कैबिनेट विस्तार हुआ था, उसी दिन अब्दुल सत्तार ने पद और गोपनीयता की शपथ ली थी.

कांग्रेस के विधायक गोरंटियाल नाराज
उधर, अब्दुल सत्तार के बाद अब कांग्रेस के विधायक कैलाश गोरंटियाल नाराज हो गए हैं. कांग्रेस विधायक जालना से मंत्री नहीं बनाए जाने से नाखुश हैं और अपने समर्थकों के साथ इस्तीफा दे सकते हैं. उन्होंने आज अपने समर्थकों की बैठक जालना में बुलाई है, जिसमें बाद वह कांग्रेस से इस्तीफा देने पर विचार कर सकते हैं.