close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सरकारी कर्मचारियों के काम पर अब 'घड़ी की नजर', कंट्रोल रूम पहुंचेगी पल-पल की खबर

सरकारी कर्मचारियों के हाजिरी लगाकर ड्यूटी से गायब होने की आदत पर काबू पाने के लिए यह तरीका अपनाया जा रहा है.

सरकारी कर्मचारियों के काम पर अब 'घड़ी की नजर', कंट्रोल रूम पहुंचेगी पल-पल की खबर
स्मार्ट वॉच (फोटो साभारः Zee Biz)

कुलवीर दीवान/चंडीगढ़: चंडीगढ़ में सरकारी बाबुओं के कामकाज पर अब घड़ी नजर रखेगी. नगर निगम चंडीगढ़ अपने कर्मचारियों और अधिकारियों को स्मार्ट वॉच पहनाने जा रहा है. स्मार्ट वॉच ड्यूटी के दौरान कर्मचारी की लोकेशन और वो कितनी देर ड्यूटी पर रहा, ऐसी तमाम जानकारी कंट्रोल रूम में पहुंचाएगी. सरकारी कर्मचारियों के हाजिरी लगाकर ड्यूटी से गायब होने की आदत पर काबू पाने के लिए यह तरीका अपनाया जा रहा है. इस स्मार्ट वॉच की कीमत करीब अठारह हजार रूपये है, मगर अभी नगर निगम इसको किराए पर लेगा. 

दरअसल सरकारी नौकरी में कई लोग दफ्तर में हाजिरी लगाकर अपने निजी काम करने निकल जाते हैं. इसके इलावा कई सरकारी बाबू ऐसे भी हैं जो अपना सरकारी काम कुछ पैसे देकर किसी तीसरे व्यक्ति को निपटाने के लिए दे देते हैं. चंडीगढ़ नगर निगम के पास भी इस तरह की कई शिकायतें लगातार आ रही थीं. इसका समाधान निकालने के लिए चंडीगढ़ नगर निगम को स्मार्ट वॉच का आइडिया मिला जो कि इंदौर, नागपुर जैसे कई स्थानों पर सफलता पूर्वक काम कर रहा है. 

भूलकर भी नहीं करें यह गलती, वरना बैन हो जाएगा WhatsApp

जीपीएस सिस्टम रखेगा कर्मचारियों पर नजर 
नगर निगम कमिश्नर के के यादव ने बताया कि नगर निगम में करीब छह हजार कर्मचारी और अधिकारी हैं. फिलहाल नगर निगम करीब चार हजार स्मार्ट वॉच किराए पर लेगा और अधिकतर फील्ड में काम करने वाले कर्मचारियों और अधिकारियों को यह स्मार्ट वॉच पहन कर ड्यूटी पर जाना होगा. जीपीएस सिस्टम से लैस स्मार्ट वॉच कर्मचारी की लोकेशन तो बताएगी ही साथ ही दिन में उसकी दो बार फोटो खींच कर भी कंट्रोल रूम भेजेगी. 

स्मार्ट वॉच करेगी सरकारी कामकाज में मदद 
स्मार्ट वॉच की यह खासियत भी होगी कि यह कलाई पर बांधने पर ही काम करेगी यानी यदि कर्मचारी ने चालाकी का खेल खेलने के लिए इस घड़ी को कलाई से खोला भी तो भी कंट्रोल रूम में इसकी सूचना मिल जाएगी. नगर निगम के कमिश्नर के के यादव के अनुसार कर्मचारियों के ड्यूटी से गैर हाजिर रहने से काम तो प्रभावित होता ही है साथ ही ज्यादातर काम जनता से जुड़े होने की वजह से जतना को भी परेशानी झेलनी पड़ती है. स्मार्ट वॉच की कीमत करीब 1700 रुपये है, मगर निगम पहले इसको किराए पर लेगा. बहरहाल यह स्मार्ट वॉच सरकारी काम काज में मन मुताबिक बदलाव लाने में कितना मददगार साबित होगी यह फिलहाल देखना होगा.