अयोध्या केस: मुस्लिम पक्ष की ओर से सुप्रीम कोर्ट में दायर की गई पुनर्विचार याचिका

सूत्रों के मुताबिक सूत्रों के मुताबिक जमीयत-ए-उलेमा-ए-हिंद मंगलवार को पुनर्विचार याचिका दाखिल कर सकता है. 

अयोध्या केस: मुस्लिम पक्ष की ओर से सुप्रीम कोर्ट में दायर की गई पुनर्विचार याचिका
(फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  अयोध्या मामले (Ayodhya case) पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) के फैसले के खिलाफ पुनर्विचार याचिका दाखिल की गई है. जमीयत-उलेमा-हिंद से जुड़े असद रशीदी की याचिका की तरफ से यह पुनर्विचार याचिका (Review petition) सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की गई है. 

याचिका में कहा गया है कि कोर्ट ने माना कि वहां नमाज होती थी फिर भी मुसलमानों को बाहर कर दिया. इसके साथ ही कहा गया है कि 1949 में अवैध तरीके से इमारत में मूर्ति रखी गई। फिर भी रामलला को पूरी जगह दी गई.

याचिका में ये भी कहा गया है कि सुप्रीम कोर्ट ने 1934, 1949 और 1992 में मुस्लिम समुदाय के साथ हुई नाइंसाफी को गैरकानूनी करार दिया लेकिन उसे नजरअंदाज भी कर दिया गया. याचिका में कहा गया कि इस मामले में पूर्ण न्याय तभी होता जब मस्जिद का पुनर्निर्माण होता.

याचिका में कहा गया कि विवादित ढांचा हमेशा ही मस्जिद था और उस पर मुसलमानों का एकाधिकार रहा है. याचिका में कहा गया कि सुप्रीम कोर्ट ने मान लिया कि 1528 से 1856 तक वहां नमाज न पढ़ने के साक्ष्य सही है, जो कि कोर्ट ने ग़लत किया.