close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

श्रीगंगानगर: पुलिस लाइन में मनाया गया शहीद दिवस, जिला कलेक्टर, SP रहे मौजूद

पुलिस अधीक्षक हेमन्त शर्मा, जिला कलेक्टर शिवप्रसाद मदन नकाते, सादुलशहर विधायक एडवोकेट जगदीश जांगिड़ सहित अन्य पुलिस अधिकारीयों और गणमान्य नागरिकों ने शहीद स्मारक पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी.

श्रीगंगानगर: पुलिस लाइन में मनाया गया शहीद दिवस, जिला कलेक्टर, SP रहे मौजूद
पिछले एक साल में देशभर में कुल 292 पुलिसकर्मी ड्यूटी करते वक्त शहीद हुए हैं.

कुलदीप गोयल, श्रीगंगानगर: कर्तव्य निर्वहन के दौरान राष्ट्र के लिए शहीद हुए पुलिस अधिकारियों और जवानों की याद में आज पुलिस लाइन में शहीद दिवस मनाया गया. इस अवसर पर पुलिस लाइन में सुबह जिला पुलिस अधीक्षक हेमन्त शर्मा ने देशभर में पिछले एक साल में शहीद हुए पुलिसकर्मियों के नाम पढ़ कर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की. 

जिला पुलिस अधीक्षक हेमन्त शर्मा, जिला कलेक्टर शिवप्रसाद मदन नकाते, सादुलशहर विधायक एडवोकेट जगदीश जांगिड़ सहित अन्य पुलिस अधिकारीयों और गणमान्य नागरिकों ने शहीद स्मारक पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी. इस अवसर पर शहीद हुए पुलिसकर्मियों की याद में पुलिस लाइन प्रांगण में पौधारोपण भी किया गया. गौरतलब है कि पिछले एक साल में देशभर में कुल 292 पुलिसकर्मी ड्यूटी करते वक्त शहीद हुए हैं जिनमें से राजस्थान प्रदेश के 10 पुलिस कर्मियों ने अपनी शहादत दी हैं.

59 साल पहले हुई पुलिस शहीद दिवस की शुरुआत 
आज से 59 वर्ष पूर्व अक्टूबर, 1959 में लद्दाख के दुर्गम क्षेत्र में भारतीय पुलिस की एक छोटी टुकड़ी के जवानों ने मातृभूमि की रक्षा करते हुए अपने प्राण न्यौछावर कर दिए थे. 21 अक्टूबर, 1959 में हॉट स्प्रिंग्स, लद्दाख के दुर्गम क्षेत्र में भारतीय पुलिस के जवानों की एक टुकड़ी के जवान शहीद हो गए थे. इन वीरों के बलिदान को याद करने और उनसे प्रेरणा ग्रहण करने के उद्देश्य से से प्रति वर्ष 21 अक्टूबर को देश के कोने-कोने में दिवंगत शूरवीरों की स्मृति में पुलिस शहीद दिवस पर परेड का आयोजन किया जाता है.