close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

महिलाओं के साथ गलत व्यवहार करने वाले 'राक्षस': केंद्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते

केंद्रीय इस्पात राज्यमंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते(Faggan Singh Kulaste)ने सिरोही में एक कार्यक्रम के दौरानमहिलाओं के साथ गलत आचरण करने वालो को राक्षस बताय़ा है.

महिलाओं के साथ गलत व्यवहार करने वाले 'राक्षस': केंद्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते
ब्रह्मकुमारी संस्था में आयोजित कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री फगन सिंह कुलस्ते. (फोटो साभार: Twitter)

साकेत गोयल, सिरोही: केंद्रीय इस्पात राज्यमंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते(Faggan Singh Kulaste)ने एक बड़ा बयान दिया है. कुलस्ते ने कहा है कि महिलाओं के साथ गलत आचरण करने वाले राक्षस हैं. देश और दुनिया में महिलाओं के साथ जो अमानवीय कृत्य हो रहे हैं, उससे सब शर्मिंदा हैं.

कुलस्ते ने ये भी कहा कि हम महिला या पुरुष बाद में, पहले इंसान हैं .दरअसल कुलस्ते सिरोही जिले के आबू रोड़ स्थित शांतिवन में आयोजित वैश्विक सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे. ब्रहमाकुमारीज के शांतिवन स्थित मुख्यालय में अध्यात्म से एकता, शांति और समृद्धि विषय पर आयोजित वैश्विक सम्मेलन मुख्य अतिथि के तौर पर केंद्रीय इस्पात राज्य मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते मौजूद थे.

कुलस्ते ने कहा कि प्रजापिता ब्रह्माकुमारी (Brahmkumari)ईश्वरीय विश्वविद्यालय अनेक क्षेत्रों में कार्य कर रहा है. आश्रम में आने के बाद मैंने शांति का अनुभव किया है. दादी जानकी का संदेश हम पूरी दुनिया मे स्थापित करेंगे. महिलाओं से लगातार हो रही दुष्कर्म की घटनाओं को लेकर कुलस्ते ने कहा कि ऐसा कृत्य करने वाले सजाओं से नहीं बचेंगे.

अध्यात्म में है उन्नति
ब्रह्माकुमारीज़ संस्थान में चल रही ग्लोबल कांफ्रेंस में नेपाल के सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश पुरुषोत्तम भंडारी ने कहा कि दुनिया भौतिक वस्तुओं के पीछे भाग रही है. जबकि सबकी उन्नति अध्यात्म में है.

महात्मा गांधी को किया याद
उन्होंने महात्मा गांधी को याद करते हुए कहा कि उन्होंने हमें सादापन सिखाया है. ब्रहमाकुमारीज़ समाज को बदलने का कार्य कर रही हैं. ग्लोबल कांफ्रेंस को दादी जानकी, बीके करुणा भाई, दादी रतनमोहिनी, उदयपुर सासंद अर्जुनलाल मीणा, नालंदा सांसद कौशलेंद्र कुमार, पद्मश्री डॉ जी भक्तवत्सलम, यूएसए से आई आध्यात्मिक गुरु बिशप मेयर्टिल एनी ब्रिस्टल ने भी संबोधित किया.