close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पंजाब में पराली जलाने के खिलाफ सरकार का बड़ा कदम, 22 सीनियर IAS अधिकारी रखेंगे नजर

यह अधिकारी पराली जलानेे सम्बन्धी गतिविधियों से निपटने के लिए प्रभावशाली तालमेल बनाकर निगरानी करेंगे.जिससे राज्य में साफ़, हरा-भरा और प्रदूषण मुक्त वातावरण बनाया जा सके.

पंजाब में पराली जलाने के खिलाफ सरकार का बड़ा कदम, 22 सीनियर IAS अधिकारी रखेंगे नजर

चंडीगढ़ः पंजाब में पराली जलाने (Stubble Burning) पर निगरानी रखने के लिए राज्य सरकार ने बड़ा कदम उठाया है. मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह के दिशा-निर्देश के मुताबिक मुख्य सचिव करण अवतार सिंह ने मौजूदा खरीफ सीजन-2019 के दौरान राज्य के सभी जि़लों के खेतों में पराली जलाने की गतिविधियों पर निगरानी रखने और तालमेल के लिए 22 सीनियर IAS अधिकारियों को तैनात किया है.

यह अधिकारी पराली जलानेे सम्बन्धी गतिविधियों से निपटने के लिए प्रभावशाली तालमेल बनाकर निगरानी करेंगे.जिससे राज्य में साफ़, हरा-भरा और प्रदूषण मुक्त वातावरण बनाया जा सके.

यह भी पढ़ें: खुद नहीं रुकेगा पराली जलाने का काम, किसानों को सब्सिडी देने पर विचार हो: सुप्रीम कोर्ट

इस सम्बन्धी जानकारी देते हुए कृषि विभाग के सचिव श्री काहन सिंह पन्नू ने बताया कि अतिरिक्त मुख्य सचिव (उद्योग एवं वाणिज्य) विनी महाजन लुधियाना जिले में पराली जलाने की गतिविधियों पर नजऱ रखेंगी जबकि अतिरिक्त मुख्य सचिव (विकास) विश्वजीत खन्ना जिला संगरूर, अतिरिक्त मुख्य सचिव (बिजली) रवनीत कौर एस.बी.एस नगर और अतिरिक्त मुख्य सचिव (खेल एवं युवाक सेवाएं) श्री संजय कुमार मानसा में पराली जलाने सम्बन्धी गतिविधियों पर नजऱ रखेंगे.

इसी तरह प्रमुख सचिव (श्रम, सामाजिक न्याय, सशक्तिकरण और अल्पसंख्यक) कृपा शंकर सरोज को बरनाला, प्रमुख सचिव (स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण) अनुराग अग्रवाल को अमृतसर, प्रमुख सचिव (जेल) आर. वेंकटरतनम को गुरदासपुर, प्रमुख सचिव (स्थानीय निकाय) ए. वेनू प्रसाद को पठानकोट, वित्त कमिश्नर (ग्रामीण विकास एवं पंचायतें) सीमा जैन को रूपनगर, प्रमुख सचिव (जल स्रोत विभाग) सर्वजीत सिंह को तरन तारन, प्रमुख सचिव (सामाजिक सुरक्षा, महिला एवं बाल विकास) राज़ी पी. श्रीवास्तव को फतेहगढ़ साहिब, प्रमुख सचिव (खाद्य, सिविल सप्लाई एवं उपभोक्ता मामले) के.ए.पी. सिन्हा को फरीदकोट, प्रमुख सचिव (योजनाबंदी) जसपाल सिंह को होशियारपुर में पराली जलाने की गतिविधियों पर नजर रखने के लिए तैनात किया गया है.

यह भी पढ़ेंः STATE OF STATES: दिल्ली में 'जहरीली हवा' का काउंट डाउन शुरू

इनके अलावा प्रमुख सचिव (तकनीकी शिक्षा और औद्योगिक प्रशिक्षण) अनुराग वर्मा को श्री मुक्तसर साहिब, प्रमुख सचिव (पर्यावरण विज्ञान प्रौद्यौगिकी और वातावरण) राकेश कुमार वर्मा को बठिंडा, प्रमुख सचिव (ट्रांसपोर्ट) के. सिवा प्रसाद को फाजिल्का, प्रमुख सचिव (पर्यटन एवं सांस्कृतिक मामले) विकास प्रताप को कपूरथला, प्रमुख सचिव (जनरल प्रबंधन) अलोक शेखर को जालंधर, प्रमुख सचिव (मुख्यमंत्री और शहरी उड्डयन) को पटियाला और प्रमुख सचिव (चिकित्सा शिक्षा और शोध) डी.के. तिवारी को मोगा में तैनात किया गया है.