आलोक वर्मा ईमानदार अधिकारी हैं, पीएम अपने फैसले पर फिर से सोचें : सुब्रमण्यम स्वामी

बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि भ्रष्टाचार के विरुद्ध लड़ाई में वर्मा ‘अच्छा काम’ कर रहे हैं.

आलोक वर्मा ईमानदार अधिकारी हैं, पीएम अपने फैसले पर फिर से सोचें : सुब्रमण्यम स्वामी
बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा,‘मैं प्रधानमंत्री से अनुरोध करता हूं कि वह सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा को हटाने के बारे में पुनर्विचार करें.’(फाइल फोटो)
Play

अहमदाबाद: बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने बृहस्पतिवार को कहा कि सीबीआई निदेशक एक ‘ईमानदार अधिकारी’ हैं जो भ्रष्टाचार पर लगाम कसने का ‘अच्छा काम’ कर रहे हैं. उन्होंने प्रधानमंत्री से वर्मा के विरूद्ध उठाये गये कदम पर पुनर्विचार करने को कहा. बता दें आलोक वर्मा और सीबीआई के विशेष निदेशक राकेश अस्थाना के बीच मतभेद चल रहे थे और सरकार ने मंगलवार रात्रि को उनके सारे अधिकार लेते हुए उन्हें अवकाश पर भेज दिया.

सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि उन्हें प्रधानमंत्री पर पूर्ण विश्वास है. किन्तु उन्होंने यह भी दावा किया कि उनके ‘आसपास के लोग’ मोदी के साथ साथ बीजेपी के हितों को नुकसान पहुंचाने का प्रयास कर रहे हैं. 

'भ्रष्टाचार के खिलाफ वर्मा अच्छा काम कर रहे हैं' 
एक कार्यक्रम में यहां भाग लेने के लिए आए स्वामी ने कहा कि भ्रष्टाचार के विरुद्ध लड़ाई में वर्मा ‘अच्छा काम’ कर रहे हैं. बीजेपी सांसद ने कहा,‘मैं प्रधानमंत्री से अनुरोध करता हूं कि वह सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा को हटाने के बारे में पुनर्विचार करें.’

स्वामी ने कहा,‘आलोक वर्मा एक ईमानदार अधिकारी हैं जबकि अस्थाना एक भ्रष्ट अधिकारी हैं.’ यह पूछे जाने पर कि अस्थाना के विरूद्ध वह जो आरोप लगा रहे हैं, क्या उसके कोई सबूत उनके पास हैं, स्वामी ने कहा कि वह समुचित साक्ष्यों के बिना कुछ भी नहीं बोलते हैं.

उन्होंने कहा,‘नीरव मोदी भाग गया, मेहुल चोकसी भाग गया, (विजय) माल्या के मामले में लुक आउट नोटिस को कमतर किया गया ताकि वह जा सके. ये चीजें भ्रष्टाचार के खिलाफ बीजेपी की मुहिम को कमजोर कर रही हैं जबकि उसने विदेशों में रखे गये काले धन को वापस लाने का वादा किया है.’

'बीजेपी में भी चिदंबरम के कई शुभचिंतक'
स्वामी ने यह भी कहा कि यदि पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के खिलाफ चल रही वर्तमान जांच में प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारी राजेश्वर सिंह को हटा लिया जाता है तो वह उन भ्रष्टाचार मामलों से हट जाएंगे जो उन्होंने वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं के खिलाफ दाखिल किए हैं.

वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं के खिलाफ विभिन्न मामले दायर कर चुके स्वामी ने दावा किया कि बीजेपी में भी चिदंबरम के कई ‘शुभचिंतक’ हैं जो उन्हें बचाने का प्रयास कर रहे हैं. बहरहाल, उन्होंने किसी का नाम नहीं लिया.

उन्होंने कहा,‘मैं उच्चतम न्यायालय में चिदंबरम के खिलाफ दायर किए सारे मामले, नेशनल हेराल्ड (मामले) सोनिया एवं राहुल गांधी के विरूद्ध दायर मुकदमा तथा शशि थरूर के खिलाफ उनकी पत्नी की (कथित) हत्या के मामले से खुद को अलग कर लूंगा.’

बीजेपी नेता ने कहा,‘मैं जबकि पार्टी एवं राष्ट्र के हित में इन मामलों को लड़ रहा हूं, (हमारे) भीतर से कोई हमें पीठ पर छुरा मारने का प्रयास कर रहा है. मैं और क्या कर सकता हूं.’ 

(इनपुट - भाषा)

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.