सुशांत सिंह के कजिन ने दी संजय राउत को मानहानि के केस की चेतावनी

बिहार भाजपा के विधायक एवं मृतक अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के चचेरे भाई नीरज कुमार सिंह उर्फ बबलू ने अभिनेता के परिवार विशेषकर उनके पिता के बारे में विवादित टिप्पणी करने को लेकर शिवसेना सांसद संजय राउत पर सोमवार को हमला बोला और उन्हें मानहानि के मुकदमे की चेतावनी दी.

 सुशांत सिंह के कजिन ने दी संजय राउत को मानहानि के केस की चेतावनी

पटनाः बिहार भाजपा के विधायक एवं मृतक अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के चचेरे भाई नीरज कुमार सिंह उर्फ बबलू ने अभिनेता के परिवार विशेषकर उनके पिता के बारे में विवादित टिप्पणी करने को लेकर शिवसेना सांसद संजय राउत पर सोमवार को हमला बोला और उन्हें मानहानि के मुकदमे की चेतावनी दी. बबलू शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ में लिखी गई बातों से गुस्से में हैं. 

राउत ने अपने लेख में आरोप लगाया कि सुशांत अपने पिता की 'दूसरी शादी' से नाराज थे और उनके अपने परिवार के साथ सौहार्दपूर्ण संबंध नहीं थे और ऐसा हो सकता है कि इस मानसिक कष्ट के कारण सुशांत अपने करियर के शिखर पर होने के बावजूद आत्महत्या करने के लिए विवश हुए हों.

अभिनेता के परिवार के करीबी सूत्रों ने इस बात से इनकार किया कि उनके पिता के के सिंह ने 2002 में सुशांत की मां की मृत्यु के बाद दूसरी शादी के लिए प्रयास किया था. राउत की उक्त टिप्पणी पर बबलू ने सोमवार को कहा, “मैं संजय राउत के बारे में अच्छी सोच रखता था. लेकिन उनकी फूहड़ टिप्पणियों ने मेरे मन में उनके प्रति घृणा उत्पन्न कर दी है. मैं उन्हें चेतावनी देता हूं कि वह इस तरह की बकवास करने से बचें नहीं तो मैं उनके खिलाफ मानहानि का मुकदमा करने पर विचार कर सकता हूं.”

भाजपा विधायक ने राउत पर अपना प्रहार जारी रखते हुए कहा, "उन्हें एक बुजुर्ग व्यक्ति (सुशांत के पिता) के खिलाफ ऐसी भाषा का इस्तेमाल करने में शर्म आनी चाहिए.’’ सुशांत गत 14 जून को मुंबई के बांद्रा स्थित अपने आवास के अंदर मृत पाए गए थे. अब इस मामले की जांच सीबीआई के हाथों में है.

गत 25 जुलाई को पटना के राजीव नगर थाने में सुशांत के पिता ने प्राथमिकी दर्ज कराई थी जिसमें अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती और उसके परिवार के खिलाफ कई आरोप लगाए गए हैं. इस बीच, राउत की विवादास्पद टिप्पणी की बिहार में पार्टी लाइन से हटकर विभिन्न दलों ने निंदा की है. 

बिहार में सत्ताधारी जदयू के नेता संजय सिंह ने राउत को "मानसिक रूप से बीमार" बताते हुए कहा कि महाराष्ट्र सरकार शुरुआत से ही जांच को पटरी से उतारने की कोशिश करती रही है. वहीं, कांग्रेस के साथ बिहार के विपक्षी महागठबंधन में शामिल राजद के वरिष्ठ नेता जयप्रकाश नारायण यादव ने भी राउत की निन्दा की है.