close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

शरद पवार के 'पाकिस्तान' वाले बयान का तारिक अनवर ने किया समर्थन, कही यह बड़ी बात

एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार ने पाकिस्तान के लोगों की जमकर प्रशंसा की थी और आरोप लगाया था कि सत्तारूढ़ बीजेपी 'गलत सूचना' फैला रही है.

शरद पवार के 'पाकिस्तान' वाले बयान का तारिक अनवर ने किया समर्थन, कही यह बड़ी बात
तारिक अनवर और शरद पवार (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: पूर्व एनसीपी नेता तारिक अनवर (Tariq Anwar) ने पाकिस्तान (Pakistan) की जनता को लेकर दिए शरद पवार (Sharad Pawar) के बयान का समर्थन किया है. अनवर ने कहा है कि पवार ने बिल्कुल सही कहा है दोनों देश की सरकारें जंग का माहौल बना रही हैं. 

तारिक अनवर ने कहा, 'एनसीपी नेता ने सही कहा है, दोनों देश की सरकारें गंभीर समस्याओं से लोगों का ध्यान हटाने के लिए जंग का माहौल बनाने में जुटी हैं.' बता दें 2018 में तारिक अनवर ने एनसीपी छोड़ फिर से कांग्रेस को ज्वाइन कर लिया था. 

गौरतलब है कि एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार ने शनिवार (15 सितंबर)  को पाकिस्तान के लोगों की जमकर प्रशंसा की थी और आरोप लगाया था कि सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) 'गलत सूचना' फैला रही है.

पवार ने पार्टी कार्यालय में अल्पसंख्यक समुदाय की एक बैठक में कहा, 'यहां के लोगों का कहना है कि पाकिस्तानियों के साथ अन्याय हो रहा है और वे खुश नहीं है, लेकिन यह सच्चाई से कोसों दूर है. इस तरह की टिप्पणियां पाकिस्तान के वास्तविक हालात को जाने बगैर सिर्फ राजनीतिक फायदे के लिए की जा रही हैं.'

अपने तर्क को सही ठहराते हुए पूर्व रक्षा मंत्री ने जिक्र किया कि उन्होंने कई बार पाकिस्तान का दौरा किया है और वहां हमेशा गर्मजोशी से उनकी मेहमानवाजी हुई है. पवार ने कहा, 'पाकिस्तानियों का मानना है कि वे बेशक अपने संबंधियों से मिलने के लिए भारत नहीं आ सकते पर वे सभी भारतीयों के साथ अपने संबंधी जैसा व्यवहार करते हैं.'

शरद पवार ने कहा कि सत्तारूढ़ व्यवस्था द्वारा लोगों को पाकिस्तान व इस्लाम के नाम पर बांटने की कोशिश की जा रही है, अल्पसंख्यकों पर हमले हो रहे हैं लेकिन आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं जा रही है.

पवार ने मुस्लिम समुदाय से आगे आने और देश में चल रही इस तरह की बातों का मुकाबला करने को कहा क्योंकि सभी समुदायों में भाईचारे व एकता के बिना प्रगति नहीं हो सकती.