ड्राइंग बुक पूरा ना करने पर टीचर ने इतनी बेरहमी से पीटा कि छात्र को मार गया लकवा

स्कूल की प्रिंसिपल स्मिता पाटील ने कहा कि, प्रसन्न के माता-पिता ने उसके साथ हुई मारपीट की शिकायत स्कूल प्रशासन को कर दी थी. हमने कमेटी गठित की है

ड्राइंग बुक पूरा ना करने पर टीचर ने इतनी बेरहमी से पीटा कि छात्र को मार गया लकवा

अश्विनी पवार, पुणेः महाराष्ट्र के पुणे के एक स्कूल में छात्र को ड्राइंग बुक पूरा ना करना एक छात्र को महंगा पड़ा, क्लास टीचर ने इस छात्र को इतनी बुरी तरह पीटा कि छात्र के मुंह को लकवा मार गया. इस छात्र का चेहरा टेढ़ा हो गया और आंख बंद नहीं हो रही है. इस घटना के बाद पुणे के श्रीशिवाजी प्रिपरेटरी मिलिट्री स्कूल के टीचर को निलंबित किया गया है. 

दरअसल इस स्कूल के छठी क्लास मे पढ़ने वाले प्रसन्न पाटिल की गलती इतनी थी कि उसने अपनी ड्रॉईंग बुक समय पर पूरी नहीं की. जब यह बात क्लास टीचर संदीप गाडे को पता चली तो उनका पारा चढ़ गया. उनका हाथ ऐसा छूटा कि प्रसन्न को उन्होनें बुरी तरह पीटा. यह पिटाई दिवाली की छुट्टियां शुरु होने के पहले ही हुई. दूसरे दिन प्रसन्न अपने घर चला गया. घर जाने के बाद पता चला की प्रसन्न का चेहरा टेढ़ा हो गया है. उसकी बाईं आंख भी बंद नहीं हो पा रही थी. प्रसन्न के पिता उसे डॉक्टर के पास लेकर गए. तब पता चला की टीचर की मार की वजह से प्रसन्न के चेहरे की दाएं तरफ की नस दब गई है जिसकी वजह से यह हुआ है.

प्रसन्न के पिता शैलेंद्र पाटिल ने बताया कि," जब प्रसन्न घर लौटा तब उसके चेहरे की सूजन तो कम हो गई थी लेकिन चेहरा टेढा हो गया था. एक आंख बंद होने में तकलीफ हो रही थी. हम उसे अस्पताल लेकर गए तो डॉक्टर ने बताया की उसके चेहरे की एक नस दबी है. जिसकी वजह से उसका चेहरा बिगड गया है. प्रसन्न ने टीचर संदीप गाडे द्वारा की गई मारपीट के बारे में बताया. हमने स्कूल से शिकायत की है. मेरे बेटे का चेहरा बिगड गया है. बच्चा मस्ती करता है, या फिर होमवर्क नहीं करता तो ऐसी सजा देने का यह कौन सा तरीका है." 

मामला स्कूल के कमेटी के पास पहुंचा. श्री शिवाजी प्रिपरेटरी मिलिटरी स्कूल प्रशासन ने घटना की जांच के लिए एक कमेटी गठित की है. यह कमेटी अब क्लासरूम में मौजूद सभी बच्चों से बात करेंगे. तब तक शिक्षक संदीप गाडे को निलंबित किया गया है. 

स्कूल की प्रिंसिपल स्मिता पाटील ने कहा कि, प्रसन्न के माता-पिता ने उसके साथ हुई मारपीट की शिकायत स्कूल प्रशासन को कर दी थी. हमने कमेटी गठित की है, जो पूरी घटना की रिपोर्ट प्रशासन को देगी. फिलहाल के लिए स्कूल टीचर संदीप को निलंबित किया गया है. जांच के बाद उनपर कारवाई क्या होगी यह तय किया जाएगा.

स्कूल प्रशासन ने अन्य शिक्षको को भी हिदायत दी है की बच्चों के साथ मारपीट ना करें. लेकिन प्रसन्न के पिता शैलेंद्र मारपीट करने वाले शिक्षक संदीप गाडे के खिलाफ कड़ी से कड़ी सजा देने की मांग कर रहे हैं.