close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दहेज न देने के चलते पत्नी को दिया तीन तलाक, पुलिस में दो मामले दर्ज

युवती के पिता आसिफ ने जब कहा कि वह अपने सामर्थ्य के अनुसार शादी में पर्याप्त खर्चा कर चुके हैं. अब देने के लिए एक लाख रुपए उनके पास नहीं है. 

दहेज न देने के चलते पत्नी को दिया तीन तलाक, पुलिस में दो मामले दर्ज

राम प्रसाद मेहता/ बारां: जिले में रविवार को तीन तलाक के दो मामले दर्ज हुए हैं. अंता क्षेत्र में एक लाख रुपये की मांग पूरी न किए जाने पर तीन तलाक दिए जाने का मुकदमा अन्ता थाने में दर्ज हुआ है. थानाधिकारी रूपसिंह के अनुसार अन्ता निवासी तमन्ना का कहना है कि उसका निकाह दो साल पहले कोटा जिले के दीगोद तहसील के कंचनपुरा निवासी इरशाद के साथ हुआ था. शादी के बाद से ही उसे एक लाख रुपए लाने के लिए तंग किया जाने लगा. कुछ दिन पहले उसके पति, सास एवं देवर ने फिर से अंता आकर राशि मांगी.

युवती के पिता आसिफ ने जब कहा कि वह अपने सामर्थ्य के अनुसार शादी में पर्याप्त खर्चा कर चुके हैं. अब देने के लिए एक लाख रुपए उनके पास नहीं है. इसी बात पर पति इरशाद ने उसे तीन तलाक बोल दिया. युवती ने सास एवं देवर पर तीन तलाक देने के लिए उकसाने का आरोप लगाया है.

इधर सीसवाली थानें मे तीन तलाक का मामला दर्ज हुआ है. सीसवाली थानाधिकारी रतन सिंह ने बताया कि सीसवाली निवासी शहनाज ने पति असलम निवासी पेच की बावड़ी जिला बूंदी के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज करवाई है कि उसके पति ने एक अक्टूबर को फोन कर तीन बार तलाक बोल कर रिश्ता खत्म कर दिया. पुलिस ने मामला कर जांच शुरु कर दी है.

शहनाज ने असलम के विरूद्ध दहेज उत्पीडऩ का प्रकरण दर्ज करवा रखा है. जो न्यायालय में विचाराधीन है. पुलिस दोनों मामलों की जांच कर रही है. पीड़ित महिला का कहना है कि पति रोज मारपीट करता था. दूसरी पत्नी भी रख रखी है. शादी 2014 में हुई थी. एक बेटा भी है और एक साल से अपने पिता के घर रही है. इस सबंध में पुलिस थाने में मामला दर्ज कराया है लेकिन पुलिस कार्रवाई नहीं कर रही है.