दिल्ली में 31 अक्टूबर को आतंकी हमले का अलर्ट, सरकारी बिल्डिंग को निशाना बना सकते हैं आतंकवादी

31 अक्टूबर का दिन काफी अहमियत रखता है क्योंकि इस दिन लद्दाख (Ladakh) व जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) औपचारिक रूप से केंद्र शासित प्रदेश के रूप में अस्तित्व में आ जाएंगे.

दिल्ली में 31 अक्टूबर को आतंकी हमले का अलर्ट, सरकारी बिल्डिंग को निशाना बना सकते हैं आतंकवादी

नई दिल्ली: खुफिया एजेंसियों ने दिल्ली (Delhi) में 31 अक्टूबर को आतंकी हमले (Terrorists attack) का अलर्ट जारी किया है. पुलिस के तमाम सीनियर अधिकारियों को 28 अक्टूबर को हुई एक मीटिंग में इस इनपुट की जानकारी दी गई है. 

बता दें 31 अक्टूबर का दिन काफी अहमियत रखता है क्योंकि इस दिन लद्दाख (Ladakh) व जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) औपचारिक रूप से केंद्र शासित प्रदेश के रूप में अस्तित्व में आ जाएंगे.

खुफिया एजेंसियों ने अलर्ट में कहा गया है कि 31 अक्टूबर को दिल्ली और जम्मू-कश्मीर की किसी सरकारी दफ्तर की बिल्डिंग पर आतंकी हमला कर हो सकता है. सूत्रों के मुताबिक सीमा पर के तमाम आतंकियों को एक जुट होकर सरकार की किसी एक अहम बिल्डिंग पर हमला करने के आदेश मिले हैं. 

लश्कर ने जारी की हिट लिस्ट
वहीं दूसरी तरफ अंतरराष्ट्रीय दबाव से खुद को बचाने के लिए लश्कर-ए-तैयबा (Lashkar-e-Taiba) ने नई चाल चली है. इस आतंकी संगठन ने अपना नाम बदल लिया है. लश्कर ने अपना नया नाम आल इंडिया लश्कर-ए-तैयबा रखा है. 

जम्मू कश्मीर (Jammu and Kashmir) से अनुच्छेद 370 (Article 370) खत्म होने के बाद बौखलाए इस संगठन ने एक हिट लिस्ट जारी की है. जिसमें भारत की कई हस्तियों के नाम शामिल हैं. लश्कर की लिस्ट में पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi), राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से लेकर भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) का नाम शामिल है. लश्कर सुरक्षा बलों द्वारा मारे गए आतंकियों का बदला लेना चाहता है. 

वहीं दूसरी तरफ अंतरराष्ट्रीय दबाव से खुद को बचाने के लिए लश्कर-ए-तैयबा (Lashkar-e-Taiba) ने नई चाल चली है. इस आतंकी संगठन ने अपना नाम बदल लिया है. लश्कर ने अपना नया नाम आल इंडिया लश्कर-ए-तैयबा रखा है. 

जम्मू कश्मीर (Jammu and Kashmir) से अनुच्छेद 370 (Article 370) खत्म होने के बाद बौखलाए इस संगठन ने एक हिट लिस्ट जारी की है. जिसमें भारत की कई हस्तियों के नाम शामिल हैं. लश्कर की लिस्ट में पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi), राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से लेकर भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) का नाम शामिल है. लश्कर सुरक्षा बलों द्वारा मारे गए आतंकियों का बदला लेना चाहता है.