VIDEO: बेटे को छुड़ाने के लिए मां-बाप लगाते रहे गुहार, नहीं माने आतंकी, बच्‍चे को मार दी गोली

जम्‍मू और कश्‍मीर के बांदीपोरा के हाजिन में आतंकियों ने बनाया था दो लोगों को बंधक. 1 को छुड़ाया गया था. आतंकी भी ढेर.

VIDEO: बेटे को छुड़ाने के लिए मां-बाप लगाते रहे गुहार, नहीं माने आतंकी, बच्‍चे को मार दी गोली
बच्‍चे को छुड़ाने के लिए मां लगाती रही गुहार.

नई दिल्‍ली : जम्‍मू और कश्‍मीर के बांदीपोरा में आतंकवाद का निर्मम चेहरा फिर सामने आया है. यहां आतंकियों ने बंधक बनाए गए 12 साल के बच्‍चे की हत्‍या कर दी है. आतंकियों ने सुरक्षाबलों से बचने के लिए एनकाउंटर के वक्‍त बांदीपोरा के हाजिन में गुरुवार को एक मकान में दो लोगों को बंधन बनाया था. इसके बाद स्‍थानीय लोगों से वार्ता कराकर सुरक्षाबल 60 साल के व्‍यक्ति अब्‍दुल हमीद को उनके चंगुल से छुड़ाने में सफल हुए थे. लेकिन 12 साल का बच्‍चा कल से आतंकियों के चंगुल में था. एनकाउंटर में सुरक्षाबलों ने दन दोनों आतंकियों को भी मार गिराया है. ये दोनों आतंकी लश्‍कर-ए-तैयबा के थे और पाकिस्‍तानी थे.

 

आतंकियों द्वारा मारे गए 12 साल के बच्‍चे का नाम आतिफ मीर है. उसके मां-बाप ने भी उसे बचाने के लिए आतंकियों से गुहार लगाई थी. मां-बाप ने उनको खुदा का वास्‍ता तक दिया था. लेकिन फिर भी उनका दिल नहीं पसीजा और आतंकियों ने उसकी हत्‍या कर दी. 

अपने बेटे को आतंकियों के चंगुल से छुड़ाने के लिए उसकी मां ने आतंकियों से अपील की थी कि मैं गुजारिश करती हूं, इनको छोड़ दो नबी के सदके खुदा का वास्ता है. मेहरबानी करो हम पर इनको छोड़ दो तुम खाते-पीते थे हमारे पास. मेहरबानी करके मेरा पति और बेटे को छोड़ दो नबी के सदके इनको छोड़ दो. हम पर मेहरबानी करो हमने इतनी क्या गलती की है.

वहीं बच्‍चे का पिता भी आतंकियों से उसे छोड़ने की गुहार लगाता रहा. पिता ने इस दौरान आतंकियों से कहा था, 'यह कोई जिहाद नहीं है. यह जहलत है. अगर तुम मेहरबानी करके इनको छोड़ दोगे फिर तुम जिहाद करो वो दूसरी बात है. मगर इनको नबी के सदके छोड़ दो यह ठीक नहीं है. तुम हमको भी मुसीबत में डाल रहे हो और खुद को भी. मेहरबानी करके नबी के सदके इनको छोड़ दो.

 

वहीं अधिकारियों के मुताबिक लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादी बांदीपोरा जिले के हाजिन इलाके में रातभर चली मुठभेड़ में मारे गए हैं. उन्होंने बताया कि आतंकवादियों के खिलाफ अभियान गुरुवार को शुरू हुआ था लेकिन सुरक्षाबलों को सावधानी से काम लेना था क्योंकि आतंकवादियों ने दो आम नागरिकों को बंधक बना लिया था. अधिकारियों ने बताया कि एक आम नागरिक को गुरुवार शाम को बचा लिया गया लेकिन एक अन्य बंधक की अभियान के दौरान मौत हो गई. वह 12 वर्ष का लड़का था. दोनों आतंकवादियों की पहचान अली और हुबैब के रूप में की गई है. वे पाकिस्तानी नागरिक थे.