बाडमेर में विधायक मेवा रकाम जैन और नगरपरिषद सभापति की रार खुलकर आई सामने

बाड़मेर में नगरपरिषद सभापति और बाड़मेर विधायक मेवा राम जैन के बीच की रार अब खुलकर सामने आ गई है उन्होंने कहाकि लूणकरण बोथरा को सभापति बनाकर उन्होंने सबसे बड़ी गलती की है   

बाडमेर में विधायक मेवा रकाम जैन और नगरपरिषद सभापति की रार खुलकर आई सामने
सभापति और बाड़मेर विधायक मेवा राम जैन के बीच की रार

बाड़मेर: नगरपरिषद सभापति और बाड़मेर विधायक मेवा राम जैन के बीच की रार अब खुलकर सामने आ गई है. बाड़मेर प्रभारी मंत्री बीडी कल्ला के सामने भरी सभा में बाड़मेर विधायक ने सभी के सामने माफी मांग कर,  बोथरा को सभापति बनाने को खुद की सबसे बड़ी गलती बताया, बैठक में अधिकतर कांग्रेसियों ने स्थानीय विधायक और नगर परिषद के वर्तमान सभापति लूणकरण बोथरा के मनमुटाव को लेकर सवाल खड़े किए. जिसके बाद विधायक ने भरी सभा में माफी मांगते हुए कहा,  कि लूणकरण बोथरा को सभापति बनाकर उन्होंने सबसे बड़ी गलती की है. उन्होंने कहा कि बोथरा जैसा इंसान मैंने नहीं देखा.

उन्होंने कहा कि शहर के विकास कार्यों में बोथरा हर बार रोड़ा बने रहते हैं साथ ही उन्होंने कहा कि चुनाव के वक्त  एक भी पार्षद उनके साथ आने को तैयार नहीं था, लेकिन  मैंने सबको जोड़ा, सबसे निवेदन किया. साथ ही नंदी गौशाला के एमओयू को लेकर भी उन्होंने कोई सहमति नहीं दी. वहीं प्रभारी मंत्री बीडी कल्ला ने सभी कार्यकर्ताओं को संगठित रहकर पार्टी को मजबूत बनाने के साथ नगर परिषद में कांग्रेस का बोर्ड बनाने के लक्ष्य पर प्रचार करने की बात कही.

आपको बता दें कि नगरपरिषद चुनाव से ठीक पहले नगरपरिषद आयुक्त के एपीओ किये जाने के बाद,  सभापति औऱ बाड़मेर विधायक की खींचतान सभी के सामने आई है. जिसके बाद प्रभारी मंत्री की बैठक में भी यह मुद्दा छाया रहा.  आपको बता दें कि इससे पहले भी कई बार नगर  परिष्द में विकास कार्यों को लेकर कई सवाल खड़े हो चुके हैं पार्षद भी हंगामा कर चुके हैं लेकिन अब तो सीधे विधायक की भी नाराजगी सामने आ रही है.