थार के रेगिस्तान में आर्मी और एयरफोर्स का युद्धाभ्यास, वज्र और रुद्र के गूंज उठा जैसलमेर

रेगिस्तानी भूभाग में 48 घंटे से चल रहे इस अभ्यास में भारतीय सेना की क्षमता, कौशल और परिचालन संबंधी तैयारियों का प्रदर्शन होगा.

थार के रेगिस्तान में आर्मी और एयरफोर्स का युद्धाभ्यास, वज्र और रुद्र के गूंज उठा जैसलमेर

मनीष रामदेव, जैसलमेर: भारतीय सेना की सुदर्शन चक्र वाहिनी का सीमावर्ती जिले जैसलमेर की पोकरण फील्ड फायरिंग रेंज में अपनी मारक क्षमता का परीक्षण करने के लिए दो दिवसीय काल्पनिक युद्ध का अभ्यास सिंधु दर्शन का आयोजन किया जा रहा है. इस दो दिवसीय युद्धभ्यास के दौरान जवान युद्ध के आधुनिक हथियारों के साथ गोलाबारी क्षमताओं का एकीकृत प्रदर्शन कर रहे हैं. 

दक्षिणी कमांड के लेफ्टिनेंट जनरल एस.के. सैनी के सानिध्य में आयोजित हो रहे इस युद्धाभ्यास में आर्टिलरी, आमर्ड और मैकेनाइज्ड फोर्सेज, आर्मी एयर डिफेंस, आर्मी एविएशन के प्रहारक अटैक हेलिकॉप्टर्स, तथा एयरफोर्स संसाधनों के साथ स्पेशल फोर्सेस के बीच सहज तालमेल का प्रदर्शन किया जा रहा है. रेगिस्तानी भूभाग में 48 घंटे से चल रहे इस अभ्यास में भारतीय सेना की क्षमता, कौशल और परिचालन संबंधी तैयारियों का प्रदर्शन होगा.

साथ ही इस युद्धभ्यास में आर्टलरी, आर्म्ड और मैकेनाइज्ड फोर्सेज, आर्मी एयर डिफेंस, आर्मी एविएशन के प्रहारक अटैक, हेलीकॉप्टर और एयरफोर्स संसाधनों का प्रदर्शन किया जा रहा है. यहां पर स्पेशल फोर्सेज के बीच सहज तालमेल का भी प्रदर्शन भी अपने आप मे अनूठा है. युद्धाभ्यास में स्वदेशी एडवांस लाइट हेलीकॉप्टर रुद्र का भी प्रदर्शन किया जा रहा है.