​तिहाड़ में विदेशी कैदियों ने मचाया उत्पात, जेल ने दिल्ली हाई कोर्ट में दायर की स्टेटस रिपोर्ट

तिहाड़ जेल प्रशासन ने दिल्ली हाई कोर्ट से स्टेटस रिपोर्ट में कहा कि 15-20 विदेशी कैदी जेल में उत्पात मचाए हुए हैं.

​तिहाड़ में विदेशी कैदियों ने मचाया उत्पात, जेल ने दिल्ली हाई कोर्ट में दायर की स्टेटस रिपोर्ट

नई दिल्ली: तिहाड़ जेल प्रशासन ने दिल्ली हाई कोर्ट से स्टेटस रिपोर्ट में कहा कि 15-20 विदेशी कैदी जेल में उत्पात मचाए हुए हैं. यहां तक कि उन्होंने जेल के ताले को भी तोड़ दिया. लिहाजा जेल प्रशासन को सख्ती बरतनी पड़ी. दिल्ली हिंसा मामले में आरोपी पिंजरा तोड़ ग्रुप की सदस्य नताशा नरवाल की याचिका पर तिहाड़ जेल ने दिल्ली हाई कोर्ट में स्टेटस रिपोर्ट दायर कर दी है.

तिहाड़ जेल की तरफ से दिल्ली हाई कोर्ट को दी गई स्टेटस रिपोर्ट में कहा गया है कि 16.06.2020 की सुबह 15-20 विदेशी कैदियों ने जेल में दिक्कत पैदा कर दी थी. अपने वॉर्ड यानी जेल से जबरन बाहर निकल गए और वार्ड नम्बर 9 के ताला को तोड़ दिया.

इसे देखते हुए वहां मौजूद जेल के अधिकारियों ने सुबह साढ़े 8 बजे अलार्म बजाया, फोर्स को बुलाया गया ताकि कैदियों पर काबू पाया जा सके. फोर्स का इस्तेमाल कम किया गया ताकि कैदियों को ज्यादा चोटें न आए. इस घटना में तकरीबन 15 कैदी और 10 जेल स्टाफ को चोटें भी आई थीं जिनका जेल की डिस्पेंसरी में प्राथमिक इलाज कराया गया.

जेल अथॉरिटी के तरफ से कोर्ट को ये भी कहा गया कि जेल नम्बर 6 के कुछ कैदी लगातार कुछ दिनों से जेल के अंदर प्रदर्शन कर रहे हैं कि उनको भी अंतरिम जमानत दी जाए.

इनकी बार बार जेल के अधिकारियों द्वारा काउंसिलिंग की जा रही है कि वो इस श्रेणी में नहीं आते हैं. इसके लिए उन्हें कंसर्न कोर्ट में अर्जी डालनी होगी.

तिहाड़ जेल ने स्टेटस रिपोर्ट में कोर्ट से ये भी कहा कि पिंजरा तोड़ ग्रुप की सदस्य आरोपी नताशा नरवाल ने अपने वकील के साथ 24.06.2020 को वीडियो कॉन्फ्रेंस से बात की थी और 29.06.2020 की शाम को भी वीडियो कॉन्फ्रेंस पर बात करना निर्धारित था.

आपको बता दें कि पिंजरा तोड़ ग्रुप की सदस्य आरोपी नताशा नरवाल ने दिल्ली हाई कोर्ट में याचिका दायर कर तिहाड़ जेल प्रशासन पर आरोप लगाया था कि उनके वकील के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग हो नहीं पा रही है क्योंकि जेल में कुछ कैदियों ने हंगामा किया है.

ये भी देखें: