close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सेल्फी लेने के लिए निकाला मोबाइल, बगल में थी 200 फीट की खाई और अचानक...

 महाबलेश्वर  पर विनोद जाधव नाम का सैलानी अपने परिवार के साथ घुमने आया था.

सेल्फी लेने के लिए निकाला मोबाइल, बगल में थी 200 फीट की खाई और अचानक...
विनोद जाधव ठाणे जिले के शहापूर का रहने वाला है.

तुषार तपासे, सातारा: महाराष्ट्र के महाबलेश्वर में सेल्फी लेते समय 200 फीट खाई में गिरने से सैलानी की मौत हो गई. महाराष्ट्र कें महाबलेश्वर में सेल्फी निकालने वक्त 200 फीट खाई में गिरनेसें सैलानी की मौत हुयी है. महाबलेश्वर  पर विनोद जाधव नाम का सैलानी अपने परिवार के साथ घुमने आया था.यहां के लुडविक पॉइंट पर परिवार के साथ पहुंचा तो सेल्फी लेने लगा. सेल्फी लेते समय विनोद 200 फिट खाई में गिर गया.

खाई के झाड़ी में फंसने से उसकी मौत हो गई. ट्रैकर की मदद से उसे बाहर निकाला गया. लेकिन सातारा के जिला अस्पताल में पहुंचने से पहले ही उसकी मौत हो गयी. विनोद जाधव ठाणे जिले के शहापूर का रहने वाला है.वह घूमने के लिए परिवार के साथ महाबलेश्वर आया था.

सेल्फी लेने के लिए ये अजीबोगरीब हरकतें हो सकती हैं जानलेवा, चिकित्सकों ने चेताया
अगर आप हाथ को पूरा तानकर, कलाई को अंदर की ओर मोड़कर कूदते हुए, चट्टानों पर चलते हुए सेल्फी लेते हैं तो यह आपके लिए खतरनाक साबित हो सकता है क्योंकि इस दौरान ठीक से संतुलन नहीं बना पाने के कारण गिरने पर कलाई में सबसे अधिक चोट आ सकती है, जिसपर चिकित्सकों ने लोगों से इस तरह से सेल्फी लेने पर सावधानी बरतने को कहा है. हार्ट केयर फाउंडेशन (एचसीएफआई) के अध्यक्ष डॉ. के. के. अग्रवाल ने कहा, "आज की पीढ़ी दूसरों की तारीफ पाने की निरंतर तलाश करती है. इस तरह की सेल्फी से उन्हें अपने साथियों से तुरंत स्वीकृति मिलने में मदद मिलती है." 

उन्होंने कहा, "हम एक ऐसे युग में रहते हैं जहां मोबाइल फोन हमारे जीवन में प्रवेश कर चुका है और वास्तविक मानवीय संपर्क लगभग न के बराबर है. हालांकि प्रौद्योगिकी ने सभी के लिए जीवन को आसान बना दिया है, लेकिन इसके साथ एक गंभीर सीमा भी है. इनमें से एक है सेल्फी लेना और कई विकृतियों के साथ समस्या की पड़ताल करना, जिसमें मानसिक और शारीरिक दोनों कठिनाइयां शामिल हैं और सबसे ताजा है सेल्फी रिस्ट." डॉ. अग्रवाल ने कहा, "पिछले दो वर्षो में दुनिया भर में सेल्फी का बुखार बढ़ा है. सेल्फी को दुनिया भर में बड़ी संख्या में मृत्यु दर और महत्वपूर्ण बीमारी से जोड़ा गया है."