close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

प्लास्टिक से हुआ पेड़ों का बुरा हाल, पॉलीथिन ने ली पत्तों की जगह!

चम्बल नदी में इस बार जो सैलाब आया उसके साथ बह कर प्लास्टिक पोलिथिन भी आई. जो इन पेड़ों को अपनी जद में ले चुकी है. 

प्लास्टिक से हुआ पेड़ों का बुरा हाल, पॉलीथिन ने ली पत्तों की जगह!

कोटा: राजस्थान के कोटा में चंबंल नदी के किनारे पेड़ अब पॉलिथिन के पेड़ के रूप में नजर आने लगे हैं. दरअसल, चंबल नदी के निचले हिस्सों की झाड़ियों और पेड़ों पर पॉलिथिन के अंबार ही नजर आने लगे हैं. जहां तक नजर जाए आपको पेड़ों पर केवल पॉलिथिन ही नजर आएगी. 

चम्बल नदी में इस बार जो सैलाब आया उसके साथ बह कर प्लास्टिक पोलिथिन भी आई. जो इन पेड़ों को अपनी जद में ले चुकी है. जो दूसरी तरफ सिंगल यूज प्लास्टिक का साइड इफेक्ट के तौर पर सबसे बड़ी तस्वीर भी है. चम्बल के निचले इलाकों में ये नाजरा लोगों की निगाह पड़ने के बाद उन्हें देखते ही चौकने पर मजबूर कर रही है. 

ये तस्वीर ख़ुद बोल रही है कि सिंगल यूज प्लास्टिक से पेड़ों को भी कितना नुकसान हो रहा है. प्लास्टिक की जद में ये वो नुकसान है जो पर्यावरण को पहुंच रहा है. ज़रूरत है हमें संभलने की प्लास्टिक बैन है और अब इसके यूज पर पूरी तरह रोक लगाने की.