Zee Rozgar Samachar

तूतीकोरिन : स्‍टरलाइट फैक्‍ट्री के खिलाफ प्रदर्शन की आग पूरे तमिलनाडु में फैली, विपक्ष का 'बंद' आज

तमिलनाडु के तूतीकोरिन में स्‍टरलाइन कंपनी के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान पुलिस फायरिंग में 13 लोगों के मारे जाने पर विपक्षी दलों ने शुक्रवार (25 मई) को एक दिन के बंद का आह्वान किया है.

तूतीकोरिन : स्‍टरलाइट फैक्‍ट्री के खिलाफ प्रदर्शन की आग पूरे तमिलनाडु में फैली, विपक्ष का 'बंद' आज
तूतीकोरिन में मरने वालों की संख्या बढ़कर 13 हो गई है. (फाइल फोटो)
Play

नई दिल्‍ली: तमिलनाडु के तूतीकोरिन में स्‍टरलाइन कंपनी के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान पुलिस फायरिंग में 13 लोगों के मारे जाने पर विपक्षी दलों ने शुक्रवार (25 मई) को एक दिन के बंद का आह्वान किया है. डीएके नेता कनिमोझी ने आरोप लगाया कि राज्‍य सरकार केंद्र की मोदी सरकार की कठपुतली की तरह काम कर रही है. उन्‍होंने कहा कि स्‍टरलाइट कंपनी केंद्र और राज्‍य सरकार की शह पर चल रही है. जनता यह जानना चाहती है कि तूतीकोरिन में प्रदर्शनकारियों पर फायरिंग का ऑर्डर किसने दिया था. पुलिस की उस कार्रवाई के बाद से तमिलनाडु विरोध की आग में जल रहा है. स्‍थानीय लोगों का आरोप है कि इस फैक्‍टरी के कारण जलस्‍तर लगातार घट रहा है और आसपास के क्षेत्र की हवा प्रदूषित हो रही है.

मदुरै और कन्‍याकुमारी में इंटरनेट कनेक्‍शन काटा
तूथुकुडी के नए कलेक्‍टर संदीप नांदुड़ी ने कहा कि सरकार ने मामले की जांच के लिए समिति बनाई है. इस बीच सोशल मीडिया पर अफवाह फैलने या विरोध से संबंधित वीडियो प्रसारित करने से रोकने के लिए प्रशासन ने तूतीकोरिन के मदुरै और कन्‍याकुमारी जिले में इंटरनेट सेवाएं रोक दी हैं. डीएमके ने मुख्‍यमंत्री के. पलानीस्‍वामी के इस्‍तीफे की मांग की है. एमडीएमके नेता वाइको ने कहा कि अफसरों को बदलने से सरकार के पाप नहीं धुल जाएंगे.

मरने वालों की संख्‍या पहुंची 13 पर
तूतीकोरिन में पुलिस गोलीबारी में घायल एक शख्स की बाद में मौत हो गई, जिससे मरने वालों की संख्या बढ़कर 13 हो गई है. तमिलनाडु प्रदूषण नियंत्रक बोर्ड ने स्टरलाइट की बिजली आपूर्ति काटने और संयंत्र बंद करने का आदेश जारी किया है. गुरुवार को लोग अपने घरों में रहे और दुकानें बंद रखी गईं, जिससे तूतीकोरिन में सामान्य जनजीवन प्रभावित रहा. इरोड, रामनाथपुरम, तिरुवरुर जैसे जिलों में प्रदर्शन जारी है.

 

सुप्रीम कोर्ट में सीबीआई जांच के लिए याचिका
प्रदर्शनकारियों के पुलिस की गोलियों से मारे जाने के मामले की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) से कराने के लिए सुप्रीम कोर्ट में एक जनहित याचिका दायर की गई. सर्वोच्च न्यायालय के अधिवक्ता जी.एस. मणि ने तूतीकोरिन के जिला अधिकारी, पुलिस अधीक्षक और अन्य पुलिस अधिकारियों के खिलाफ धारा 302 (हत्या) का मामला दर्ज करने की भी मांग की है. याचिका में कहा गया है कि गोलीबारी में मारे गए लोगों के परिजनों के लिए 10 लाख रुपये की अनुग्रह राशि की घोषणा मात्र जनता को खुश करने के लिए तथा नर संहार के अपराध से बचने के लिए की गई है.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.