उदयपुर: स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट को लेकर प्रशासन की पहल, अब ऐसे अपनी शिकायत दर्ज करा सकेंगे लोग

स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के सीईओ कमर चौधरी ने बताया कि स्मार्ट सिटी के काम को लेकर फेसबुक, ट्विटर और इंस्टाग्राम पर तीन अलग अलग पेज बनाए गए हैं. 

उदयपुर: स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट को लेकर प्रशासन की पहल, अब ऐसे अपनी शिकायत दर्ज करा सकेंगे लोग
जनता की शिकायतों का समाधान हो सके इसके लिए एक टीम तैयार की गई है

उदयपुर: अब सोशल मिडिया के जरिए उदयपुर में स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट को लेकर चल रहे काम पर आम जनता सीधे अपनी नजंर रख सकेगी. साथ ही शहर के लोग स्मार्ट सिटी वर्क को लेकर अपने सुझाव और शिकायतों को भी बड़ी आसानी के साथ जिम्मेदार अधिकारियों तक पहुंचा सकेंगे. लोगों को सीधा जोड़ने के लिए स्थानीय प्रशासन ने सोशल मीडिया को अपना जरिया बनाया है.

उदयपुर में पिछले करीब तीन साल से चल रहे स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट वर्क में हो रही देरी को लेकर कई बार लोगों ने विरोध किया है. लोग अपनी शिकायतें जिम्मेदार अधिकारियों तक कहां और कैसे पहुंचाए इसको लेकर भी शहरवासियों में रोष देखा गया. इसी को लेकर स्थानीय प्रशासन ने एक सकारात्मक पहल की है. प्रशासन ने अब सीधे जनता से जुड़ने के लिए सोशल मीडिया को अपना जरिया बिनाया है. 

स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के सीईओ कमर चौधरी ने बताया कि स्मार्ट सिटी के काम को लेकर फेसबुक, ट्विटर और इंस्टाग्राम पर तीन अलग अलग पेज बनाए गए हैं. जिस पर स्मार्ट सिटी के तहत चल रहे कार्यों के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई है. साथ ही जिन इलाकों मे काम चल रहा है, वो कब तक पुरा हो जाएगा इसके बारे में भी पुरा विवरण दिया गया है. जिससे लोगों को उनके क्षेत्र में चल रहे कार्य के बारे में पूरी जानकारी मिल सकती है. यही नहीं, लोग इन कार्यों पर अपने सुझाव और शिकायत भी सोशल मीडिया के जरिए जिम्मेदार अधिकारियों तक पहुंचा सकते हैं.

इसी के साथ सोशल मीडिया पर आने वाले सुझाव और जनता की शिकायतों का समाधान हो सके इसके लिए एक टीम तैयार की गई है जो तीनों पेज पर मीलने वाली शिकायतों को स्मार्ट सिटी इंजिनियरिंग ग्रुप पर शेयर करेगें. जिससे उनका निराकरण हो सके इसी के साथ इस ग्रुप और साशल साइट की मोनिटरिंग खुद सीईओ चौधरी भी करेगें.

प्रशासन की ओर से भी एक वेबसाईट को डेवलप किया जा रहा है. जिसमें स्मार्ट सिटी में अब तक जो भी काम हुए हैं, जो भी काम चल रहे हैं और भविष्य में कहां कौन सा काम होगा इस बारे में विस्तार से जानकारी उपलब्ध कराई जाएगी. जिससे स्मार्ट सिटी को लेकर चल रहे कार्यों को ओर भी पारदर्शी बनाया जा सके.