उदयपुर: स्कूल में साइकिल वितरण कार्यक्रम में न बुलाए जाने पर भाजपाइयों ने जमकर किया प्रदर्शन

पूरे मामले पर स्कूल प्रबंधन ने सफाई देते हुए कहा कि विभाग की ओर से इस कार्यक्रम में जन प्रतिनिधियों को बुलाने के निर्देश दिए गए थे.

उदयपुर: स्कूल में साइकिल वितरण कार्यक्रम में न बुलाए जाने पर भाजपाइयों ने जमकर किया प्रदर्शन

अविनाश जगनावत, उदयपुर: में सरकार के बदलने के बाद से ही यहां के राजकीय विद्यालयों में बटने वाली साइकिल हमेशा विवादों में रही है. कभी साइकिल के रंग के नाम पर तो कभी किसी ओर बहाने से राजनैतिक दल साइकिल की आड़ में अपनी रोटियां सकने में पीछे नहीं रहते हैं. 

कुछ ऐसा ही आज उदयपुर शहर से सटे नेला गांव में भी देखने को मिला. जहां राजकीय विद्यायल में आयोजित होने वाले समारोह में स्थानीय जनप्रतिनिधियों की अनदेखी करने पर भाजपा कार्यकर्ताओं ने ग्रामीणों पर हंगामा कर दिया. हंगामा कर रहे भाजपाइयों ने स्कूल के गेट पर ताला जड़ते हुए जम कर नारेबाजी की. 

दरअलस, स्कूल प्रबंधन की ओर से कार्यक्रम में स्थानीय सरपंच, भाजपा से गिर्वा प्रधान तख्तसिंह और उदयपुर ग्रामीण विधायक फूलसिंह मीणा की अनदेखी करते हुए पूर्व विधायक सज्जन कटारा, युवा कांग्रेसी नेता विवेक कटारा को मुख्य अतिथि के तौर पर आमंत्रि किया था. जिसकी जानकारी मिलने पर भाजपा कार्यकर्ताओं ने स्कूल के बाहर हंगामा खड़ा कर दिया. स्कूल के बाहर हंगामे की सूचना पर गोवर्धनविलास थाना पुलिस मौके पर पहुंची और समजाइश कर मामले को शांत किया.

वहीं पूरे मामले पर स्कूल प्रबंधन ने सफाई देते हुए कहा कि विभाग की ओर से इस कार्यक्रम में जन प्रतिनिधियों को बुलाने के निर्देश दिए गए थे. ऐसे में कार्यक्रम में पूर्व विधायक को बुलाया गया. यही नहीं उन्होंने साफ कहा कि हर कार्यक्रम में सभी जनप्रतिनिधियों को बुलाना संभव नहीं होता है.

बहरहाल स्कूल के बाहर भाजपाइयों के हंगामे के चलते कार्यक्रम निर्धारित समय से देरी से शुरू हुआ. इस दौरान स्कूल परिसर पूरी तरह से छावनी में तब्दील दिखाई दिया.