close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

उदयपुर: बारिश से हुए जलजमाव के बाद लोगों को सता रहा डेंगू का डर, प्रशासन बेखबर

लगातार शिकायत के बाद नगर निगम की नींद जागी और निगम की टीम ने पानी निकासी के लिए अस्थाई व्यवस्था की. लेकिन लगातार बारिश के बाद फिर पानी जमा हो गया.

उदयपुर: बारिश से हुए जलजमाव के बाद लोगों को सता रहा डेंगू का डर, प्रशासन बेखबर
अब क्षेत्रवासियों ने अपने स्तर पर पानी की निकासी के प्रयास शुरू कर दिए हैं.

उदयपुर: राजस्थान के उदयपुर शहर की माली कॉलोनी समेत आसपास के क्षेत्र में लगातार बारिश की वजह से लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. यहां पानी भर जाने की वजह से लोगों को आने जाने में परेशानी हो रही है. साथ ही पानी जमा होने के कारण बीमारियों के फैलने का डर भी बना हुआ है. ऐसे में कई बार क्षेत्रवासियों ने नगर निगम को सूचना दी, लेकिन नगर निगम की ओर से कोई कदम नहीं उठाया गया.

हालांकि, लगातार शिकायत के बाद नगर निगम की नींद जागी और निगम की टीम ने पानी निकासी के लिए अस्थाई व्यवस्था की. लेकिन लगातार बारिश के बाद फिर पानी जमा हो गया. ऐसे में अब क्षेत्रवासियों ने अपने स्तर पर पानी की निकासी के प्रयास शुरू कर दिए हैं. जब नगर निगम को ये पता चला कि लोग अपने स्तर पर पानी निकासी का प्रयास कर रहे हैं, तो नगर निगम की टीम मौके पर पहुंची और पाइप डालने का काम शुरू किया.

वहीं लोगों के मुताबिक नगर निगम द्वारा डाले जा रहे वह छोटे हैं जिसके कारण लोगों उनका विरोध किया. लोगों का कहना है कि बड़े पाइप डाले जाएंगे, तभी यहां की समस्या का निस्तारण होगा. वहीं नगर निगम की टीम यह कहकर टाल रही है कि हमारे पास बड़े पाइप नहीं हैं. हालंकि, लोगों ने नगर निगम की टीम को आपसी चंदा इकट्ठा करने के बाद बड़े पाइप उपलब्ध करा दिए हैं. 

स्थानीय लोगों की मानें तो जिस तरह नगर निगम की टीम यहां पर काम कर रही है वह केवल लोगों के साथ सौतेला व्यवहार करने का काम है. बड़े पाइप उपलब्ध कराने के बाद भी पानी निकासी की समस्या का निस्तारण नहीं हो रहा है. ऐसे में लोगों ने ये भी कहा कि अगर नगर निगम की टीम इस समस्या का निस्तारण नहीं करती है तो वह अपने स्तर पर इस समस्या के निस्तारण का प्रयास करेंगे.

बता दें कि सीजन की शुरुआत के साथ एक साथ डेंगू के पांच मरीजों के सामने आने से स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया हैं. वहीं, मौसमी बीमारियों से पीड़ित मरीज़ अस्पतालों में भारी संख्या में पहुंच रहे हैं. लगातार बढ़ रहे आंकडें के साथ हॉस्पिटल प्रशासन के भी होश उड़ा दिए हैं.