उद्धव ठाकरे अयोध्या में मांग रहे हैं मंदिर की तारीख, लेकिन मुंबई में घर के पास बने राम मंदिर को भूले

उद्धव ठाकरे के निवास स्थान से महज तकरीबन 1 किलोमीटर के फासले पर एक राम मंदिर ऐसा भी है जहां लोगों को उद्धव ठाकरे का मंदिर में आने का पिछले तकरीबन दो दशक से इंतजार है.

उद्धव ठाकरे अयोध्या में मांग रहे हैं मंदिर की तारीख, लेकिन मुंबई में घर के पास बने राम मंदिर को भूले
उद्धव ठाकरे ने अयोध्या में सरयू नदी पर आरती में हिस्सा लिया. फोटो : पीटीआई

राकेश त्रिवेदी, मुंबई : एक तरफ जहां अयोध्या में पहुंचे उद्धव ठाकरे वहां राम मंदिर की निर्माण की तारीख पूछ रहे हैं, तो दूसरी तरफ मुंबई में कुछ रामभक्त उद्धव ठाकरे से नाराज भी हैं. ज़ी न्यूज़ को मिली जानकारी के मुताबिक मुंबई के बांद्रा इलाके में कलानगर जहां पर उद्धव ठाकरे का निवास स्थान है, यहां से महज तकरीबन 1 किलोमीटर के फासले पर एक राम मंदिर ऐसा भी है जहां लोगों को उद्धव ठाकरे का मंदिर में आने का पिछले तकरीबन दो दशक से इंतजार है.

बांद्रा ईस्ट के खेरवाड़ी इलाके में स्थित मंदिर के पुजारी पिछले 18 सालों से इस मंदिर में अपनी सेवा दे रहे हैं. इनका कहना है कि कम से कम पिछले 18 सालों में उद्धव ठाकरे या उनके परिवार का कोई सदस्य इस मंदिर में भगवान राम के दर्शन करने कभी नहीं आया. यहां तक कि पिछले कई चुनाव के दौरान उद्धव ठाकरे इस मंदिर के आसपास के इलाकों में चुनाव प्रचार के लिए तो जरूर आए, लेकिन दर्शन लेने कभी मंदिर के भीतर तक नहीं आए.

अयोध्या: सरयू किनारे परिवार संग उद्धव ठाकरे ने की आरती, कल सुबह करेंगे रामलला के दर्शन

शिवसेना के कुछ कार्यकर्ता तो इस मंदिर के ट्रस्ट में सदस्य भी हैं बावजूद इसके मंदिर में उद्धव ठाकरे कभी  नहीं पहुंचे. मंदिर के पुजारी कहते हैं कि उन्हें यह जानकर बहुत दुख होता है कि एक तरफ उद्धव ठाकरे अपने घर से सिर्फ तकरीबन 1 किमी के फासले पर जो राम मंदिर है वहां दर्शन लेने तो कभी नहीं आए. लेकिन चुनाव से ठीक पहले उन्हें अचानक राम की याद आ जाती है और वे 1500 किमी दूर अयोध्या चले जाते हैं.

एक तरफ जहां शिवसेना, उद्धव ठाकरे अपने हजारों कार्यकर्ताओं के साथ लाखों-करोड़ों रुपए खर्च कर अयोध्या में अपनी राम भक्ति दिखाते हुए श्रीराम - जय राम के नारे लगा रही है, तो वहीं दूसरी तरफ यह राम मंदिर वीरान पड़ा है, और दशकों से उनके आने का इंतजार कर रहा है.