close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: बेरोजगारी से परेशान युवा विधानसभा उपचुनाव में सरकार के खिलाफ करेंगे प्रचार

अब प्रदेश के युवा बेरोजगार (Unemployed Youth) सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलने जा रहे हैं. आगामी 9 अक्टूबर को प्रदेश के करीब 500 से ज्यादा बेरोजगार उप चुनाव के मद्देनजर कूच करने की तैयारी में है.

राजस्थान: बेरोजगारी से परेशान युवा विधानसभा उपचुनाव में सरकार के खिलाफ करेंगे प्रचार
प्रदेश के बेरोजगारों में भारी आक्रोश है. (प्रतीकात्मक फोटो)

जयपुर: अब प्रदेश के युवा बेरोजगार (Unemployed Youth) सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलने जा रहे हैं. आगामी 9 अक्टूबर को प्रदेश के करीब 500 से ज्यादा बेरोजगार उप चुनाव(By Elections) के मद्देनजर कूच करने की तैयारी में है. जिसमें अब बड़ी संख्या में बेरोजगार अलग- अलग तरीके से विरोध प्रदर्शन कर सरकार के खिलाफ प्रचार करेंगे.

15 सूत्रीय मांगों को लेकर प्रदेश के हजारों बेरोजगार पिछले एक महीने से आंदोलन की राह पर हैं. इसी कड़ी में 1 अक्टूबर को जयपुर में एक विशाल धरना दिया गया. जिसमें सरकार को मांगों को मानने को लेकर 8 दिन का समय दिया था. लेकिन 8 दिन पूरे होने के बाद भी सरकार की ओर से कोई वार्ता की पहल नहीं की गई. जिसके बाद अब प्रदेश के बेरोजगारों में भारी आक्रोश है.

सब्र का बांध टूट गया बांध
गौरतलब है कि कई बार सरकार से अपनी मांगों को मानने की अपील करने के बाद अब बेरोजगारों के सब्र का बांध टूट गया है. राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ अध्यक्ष उपेन यादव ने बताया कि बेरोजगारों की मांगों को पूरा करने के वादे के साथ कांग्रेस सत्ता में आई थी. लेकिन एक साल बीत जाने के बाद भी करीब 80 फीसदी से ज्यादा मांगें लम्बित है. ऐसे में अब सरकार के मंत्री भी बेरोजगारों के साथ दुर्व्यवहार कर रहे हैं. ऐसे में अगर सरकार बेरोजगारों की आवाज को नहीं सुनेगी तो इसका खामियाजा सरकार को उप चुनाव में भुगतना पड़ सकता है.

पिछले साल हुए चुनाव में सरकार ने अपने घोषणा पत्र में बेराजगारों को जल्द से जल्द नौकरियां देने की बात कही थी. लेकिन बार बार सरकार को अपनी मांगों से अवगत करवाने के बाद भी जब कोई समाधान नहीं हुआ तो बीते एक महीने से बेरोजगार फिर से आंदोलन की राह निकल पड़े थे.