इस प्रदेश में पत्रकारों को 5 लाख का हेल्थ बीमा, कोरोना से मौत पर दस लाख की मदद

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सरकार योजनाओं को बनाती है तो प्रशासन विभिन्न माध्यमों के जरिए महत्वपूर्ण सूचनाओं को आम जनमानस तक पहुंचाता है.

इस प्रदेश में पत्रकारों को 5 लाख का हेल्थ बीमा, कोरोना से मौत पर दस लाख की मदद
फाइल फोटो

लखनऊ : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने ऐलान किया है कि प्रदेश के मान्यता प्राप्त पत्रकारों को हर साल पांच लाख रुपये का स्वास्थ्य बीमा कवर दिया जायेगा वहीं अगर किसी पत्रकार की कोरोना वायरस संक्रमण के कारण मौत हुई तो संबंधित परिजन को दस लाख रुपये की आर्थिक सहायता दी जायेगी.

मुख्यमंत्री ने ये घोषणा लखनऊ के डीडीयू सूचना परिसर भवन के उद्घाटन के मौके पर की. उन्होंने कहा कि सूचना विभाग शासन और प्रशासन के कार्यों को मीडिया तक पहुंचाने के लिये एक सेतु का काम करता है. 

 

मीडिया की भूमिका पर व्याख्यान
सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सरकार योजनाओं को बनाती है तो प्रशासन विभिन्न माध्यमों के जरिए महत्वपूर्ण सूचनाओं को आम जनमानस तक पहुंचाता है. पत्रकारिता का लोकतंत्र में विशेष स्थान है इसलिए जनता, शासन और प्रशासन के बीच एक महत्तवपूर्ण सेतु के रूप में मीडिया की भूमिका को नकारा नहीं जा सकता. 

ये भी पढ़ें - आतंकवाद पर भारत के साथ आया नेपाल, संयुक्त राष्ट्र में दिया ये बयान

संक्रमण से मौत पर मुआवजा
यूपी सीएम ने कहा कि प्रदेश के मान्यता प्राप्त पत्रकारों को राज्य सरकार प्रतिवर्ष पांच लाख रुपये का स्वास्थ्य बीमा कवर देगी, वहीं कोरोना वायरस संक्रमण से पत्रकार की मृत्यु होने पर उसके परिजन को दस लाख रुपये की आर्थिक सहायता दी जाएगी.

गौरतलब है कि देशभर के कोरोना योद्धाओं के तौर पर पत्रकार भी फ्रंट वारियर्स के तौर पर काम कर रहे हैं. कई पत्रकारों की कोरोना संक्रमण से मौत हो चुकी है. ऐसे में सरकार के इस फैसले से मान्यता प्राप्त पत्रकारों को बड़ी राहत मिलेगी.

VIDEO