close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

VIDEO: भारी बारिश के बाद बढ़ा कृष्णा नदी का जलस्तर, बाढ़ के पानी से घिरे सांगली के कई गांव

महाराष्ट्र के सांगली जिले के मिरज में कृष्णा नदी में भी पानी तेजी से बढ़ रहा है. जिसके चलते यहां नदी के आसपास से नजर रखी जा रही है.

VIDEO: भारी बारिश के बाद बढ़ा कृष्णा नदी का जलस्तर, बाढ़ के पानी से घिरे सांगली के कई गांव
सड़कों पर जलभराव के चलते यातायात भी बुरी तरह से प्रभावित है.

नई दिल्लीः महाराष्ट्र के कई जिलों में पिछले कुछ दिनों से रुक-रुक कर बारिश हो रही है. जिससे इन क्षेत्रों में जनजीवन बुरी तरह से अस्त-व्यस्त हो गया है. एक ओर जहां लोगों को भारी जलभराव का सामना करना पड़ रहा है वहीं दूसरी ओर नदियों और बांधों का जलस्तर भी तेजी से बढ़ रहा है, जिससे लोगों की समस्याएं और भी बढ़ती जा रही है. महाराष्ट्र के सांगली जिले के मिरज में कृष्णा नदी में भी पानी तेजी से बढ़ रहा है. जिसके चलते यहां नदी के आसपास से नजर रखी जा रही है.

बात दें सांगली जिले में कृष्णा नदी के किनारे बसे गांवो को बाढ के पानी ने घेर लिया है. यहां लगभग 300 जानवर अटके हुए हैं. कृष्णा नदी पर बना पुल पानी के नीचे चला गया है. मिरज से नरसिंहवाडी रास्तेपर पानी भरने से बंद कराया गया है. यहां एनडीआरएफ की टीम आ चुकी है. इस टीम के साथ ही स्थानीय मनपा प्रशासन के कर्मचारी लोगों को पानी से सुरक्षित ठिकानों पर लेकर जा रहे हैं. जिसके लिए स्पीड वोट का इस्तेमाल किया जा रहा है, ताकि जल्दी से जल्दी लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचाया जा सके.

मुंबई में भारी बारिश के साथ हाई टाइड का अलर्ट, समुद्र में उठेंगी 4.35 मीटर ऊंची लहरें

देखें वीडियो

महाराष्‍ट्र: बारिश से राहत नहीं, पुणे में हालात सबसे गंभीर, मंगलवार को भी रहेंगे स्‍कूल बंद

वहीं वृद्ध, महिलाओं और बीमारों को प्राथमिकता से वोट में बिठाकर सुरक्षित ठिकानों पर छोड़ा जा रहा है. बता दें महाराष्ट्र के कई जिलों में इन दिनों बारिश के पानी ने हर तरफ तबाही मचा रखी है. बारिश के चलते सड़कों और रेलवे ट्रेक पर जलभराव के चलते यातायात भी बुरी तरह से प्रभावित है. जिसके कारण कई ट्रेनें रद्द कर दी गई हैं और लोगों का एक जगह से दूसरी जगह जाना भी बंद पड़ा है. वहीं लोगों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए बाढ़ क्षेत्र में आने वाले इलाकों को पहले ही खाली करा दिया गया है और लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है.