close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

VIDEO: महाराष्ट्र की बाढ़ में फंसे लोगों के लिए मसीहा बनी NDRF, 300 लोगों को बचाया

महाराष्ट्र के सांगली जिले के शिरगांव में भारी बारिश से बाढ़ की स्थिति पैदा हो गई है. सौकड़ों लोग अपने घरों में फंसे हुए हैं. ऐसे में एनडीआरएफ की टीम लोगों को निकालने में जुट गई है. अब तक करीब 300 लोगों और मवेशियों को सुरक्षित जगह पर पहुंचाया गया है. 

VIDEO: महाराष्ट्र की बाढ़ में फंसे लोगों के लिए मसीहा बनी NDRF, 300 लोगों को बचाया
बाढ़ में फंसे लोगों को एनडीआरएफ की टीम ने रेस्क्यू कर सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया.

मुंबई: मुंबई और महाराष्ट्र के कई जिलों में भारी बारिश से जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया है. कहीं नदियां उफान पर हैं तो कहीं लोग बाढ़ में फंसे हुए हैं. इस आफत की घड़ी में एनडीआरएफ की टीम लोगों के लिए मसीहा साबित हो रही है. महाराष्ट्र के सांगली जिले के शिरगांव में भारी बारिश से बाढ़ की स्थिति पैदा हो गई है. सौकड़ों लोग अपने घरों में फंसे हुए हैं. ऐसे में एनडीआरएफ की टीम लोगों को निकालने में जुट गई है. अब तक करीब 300 लोगों और मवेशियों को सुरक्षित जगह पर पहुंचाया गया है. 

उधर, सतारा जिले के वाई शहर में धोम बांध से पानी छोड़े जाने से कृष्णा नदी उफान पर है. नदी के पास के सभी घाट पानी में डूब गए हैं. गणपति घाट का प्रसिद्ध ढोल्या गणपति मंदिर भी पानी में डूब गया है. कोल्हापुर जिले में भी नदियां उफान पर हैं और पानी के साथ बहकर मगरमच्छ शहर में आ गए हैं. एनडीआरएफ की टीम और स्थानीय लोगों ने मिलकर मगरमच्छ को पकड़ा. इसके बाद उसे उचित जगह पर पानी में छोड़ दिया जाएगा. हालांकि शहर में मगरमच्छ मिलने से स्थानीय लोगों में खौफ का माहौल है. 

वहीं, मुंबई में मंगलवार को भी मौसम विभाग ने भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है.  मौसम विभाग के मुताबिक मुंबई और इसके आस-पास के इलाकों में आज भी भारी बारिश हो सकती है. विभाग ने भारी से भारी बारिश के साथ ही हाई टाइड का अलर्ट भी जारी किया है. इस दौरान समुद्र में 4.35 मीटर ऊंची लहरें उठने की संभावना जताई गई है. इसके साथ ही मछुआरों को समुद्र से दूर रहने की इडवायजरी जारी कर दी गई है. 

बता दें कि बीते सोमवार को मुंबई के कई स्कूल-कॉलेज बंद रखे गए थे और आज भी कई स्कूलों पर ताला लगा हुआ है. बारिश के चलते सड़कों पर पानी भरा है, जिससे आवागमन भी बुरी तरह प्रभावित है. वहीं सरकार ने भी अपील की है कि जब तक जरूरी न हो, घरों से बाहर न निकलें और जितना हो सके बिजी रूट की तरफ जाने से बचें.