close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जयपुर एयरपोर्ट के रनवे पर जानवरों के आने को लेकर सतर्क प्रशासन, उठाए ये कदम

जयपुर एयरपोर्ट के निदेशक जयदीप बल्हारा ने बताया कि एयरपोर्ट के चारों और बाउंड्री सील करा रखी है. यदि एयरपोर्ट पर फिर भी कोई जानवर देखा जाता है तो उसके लिए 6 ब्रीड केज भी लगा रखे हैं.

जयपुर एयरपोर्ट के रनवे पर जानवरों के आने को लेकर सतर्क प्रशासन, उठाए ये कदम

जयपुर: एयरपोर्ट के रनवे पर कई बार सियार या लोमड़ी जैसे जंगली जानवर देखे जाते रहे हैं. इस कारण फ्लाइट के टेक ऑफ और लैंड करने के दौरान हादसों की संभावना रहती है. इसको मध्यनजर रखते हुए जयपुर एयरपोर्ट प्रशासन ने रनवे पर कड़ी सुरक्षा के इंतजाम भी किए  हैं.

प्रदेश के सबसे बड़े जयपुर एयरपोर्ट के रनवे पर कई बार जानवर देख जाने की सूचना सामने आती है. ऐसे में फ्लाइट के टेक ऑफ और लैंड करते समय जानवरों के सामने आ जाने की वजह से कई बार हादसों की उम्मीद से ज्यादा बढ़ जाती है. ऐसे वक्त में यात्री की जान का भी खतरा बढ़ जाता है. जिसको लेकर जयपुर एयरपोर्ट के निदेशक जयदीप सिंह बल्हारा ने भी एयरपोर्ट कर्मचारियों को रनवे पर किसी भी तरह के जानवर नहीं देखे जाने के दिशा निर्देश दिए है. यदि एयरपोर्ट रनवे पर जानवर देखा जाए तो जल्द से जल्द उसे वहां से हटाया जाए.

जयपुर एयरपोर्ट के निदेशक जयदीप बल्हारा ने बताया कि एयरपोर्ट के चारों और बाउंड्री सील करा रखी है. यदि एयरपोर्ट पर फिर भी कोई जानवर देखा जाता है तो उसके लिए 6 ब्रीड केज भी लगा रखे हैं. साथ ही बल्हारा ने कहा कि जानवर के देखे जाने के बाद भी यदि जानवर पिंजरे में नहीं आता है तो उसको लेकर वन विभाग की टीम को सूचना दी जाती है. जिसके बाद वन विभाग की टीम एयरपोर्ट के रनवे पर रेस्क्यू कर जानवर को पकड़ कर उसे अपने कब्जे में लेते है. बल्हारा ने कहा कि एयरपोर्ट पर जानवरो की सूचना कई बार सामने तो आती है. जिसको लेकर प्रशासन के द्वारा वन विभाग की टीम को बुलाकर एयरपोर्ट का सर्वे भी कराया जाता है. ऐसे में यात्रियों की सुरक्षा को लेकर एयरपोर्ट भी मुस्तैद रहता है.