close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बारां: तार के सहारे नदी पार करने को मजबूर ग्रामीण

अपने खेतों में जाने के लिए लोग,नदी पार करने के लिए तार का इस्तेमाल करते हैं. जिससे कभी भी बड़ा हादसा होने की आशंका बनी रहती है.

 बारां: तार के सहारे नदी पार करने को मजबूर ग्रामीण
तार के सहारे पुल पार करते हैं ग्रामीण

राम मेहता,बारां: राजस्थान के मांगरोल के समसपुर गांव में लोग आज भी विकास के लिए तरस रहे हैं. हालात ये हैं कि अपने खेतों में जाने के लिए लोग,नदी पार करने के लिए तार का इस्तेमाल करते हैं. जिससे कभी भी बड़ा हादसा होने की आशंका बनी रहती है. कईं बार  नदी पर पुल बनाने की गुहार प्रशासन से ग्रामीण लगा चुके हैं लेकिन आज तक कोई सुनवाई नहीं हुई. गंभीर सवाल इसलिए भी है की गांव की दूरी बारां जिला मुख्यालय से महज 4 किलोमीटर ही है. लेकिन विकास यंहा तक नहीं  पंहुच पा रहा है

लोगों के लिए खेतों में जाने के लिए रास्ता नहीं है। इसलिए रोजाना सैकड़ों लोगों को खेतों में जाने के लिए तारों के सहारे नदी पार करनी पड़ती है। खेतों में जाने के लिए जो रोड बनाया गया है वो 4 किलोमीटर लंबा है, इसलिए लोग जान जोखिम में डालकर तारों के सहारे नदी पार करते हैं। लोगों ने जुगाड़ से नदी पर तार बांध  रखें हैं, जिसके सहारे महिला, पुरूष सभी तारों के सहारे किसी तरह नदी को पार करते हैं. हालांकि ग्रामीणों की जरा सी चूक इनकी जिंदगी पर भारी  पड़ सकती है.

 जानकारी के मुताबिक पिछले करीब 10 सालों से इसी तरह से लोग नदी  पार करते हैं। ऐसा नहीं है कि इसकी जानकारी प्रशासन या फिर जनप्रतिनिधियों को नहीं है।  यहां के लोगों ने प्रशासन,  विधायक, सांसद सभी से पुलिया बनाने की मांग  की,  लेकिन आज तक किसी ने भी ध्यान नहीं दिया। स्थानीय लोगों का कहना है कि  जो रास्ता है वो 4 किलोमीटर लंबा है। इसलिए सड़क के जरिए जाने में ज्यादा समय लगता है, ऐसे में मजदूर और ग्रामीण पैसे और समय की बचत के लिए सीधे नदी को तार के सहारे पार करते हैं। 

आजादी मिले 72 बरस गुजर चुके हैं, लेकिन आज भी आजाद हिंदुस्तान में कई जगहों पर ऐसी तस्वीरें सामने आती हैं तो कईं सवाल खड़े होते हैं. एक तरफ देश में एक्सप्रेस वे बनाए जा रहे हैं. तो दुसरी तरफ ग्रामीण परिवेश में लोग एक एदद पुल और सड़क जैसी बुनियादी सुविधाओं से महरुम हैं