पश्चिम बंगाल के राज्यपाल ने ममता बनर्जी की तरफ बढ़ाया 'दोस्ती का हाथ', बोले...

संवैधानिक पद पर बैठे लोगों से मेरा एक ही अनुरोध रहेगा 'टिट फॉर टैट' की सोच लेकर अगर चलेंगे तो हम कभी भी आगे नहीं बढ़ पाएंगे.

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल ने ममता बनर्जी की तरफ बढ़ाया  'दोस्ती का हाथ', बोले...
फाइल फोटो

अर्णबांगशु नियोगी, कोलकाता: पश्चिम बंगाल (West Bengal) के राज्यपाल जगदीप धनकड़ (Governor Jaydeep Dhankar) ने पश्चिम बंगाल सरकार के साथ दोस्ती का हाथ बढ़ाया है. उन्होंने कहा की अब कोई संघर्ष या भेदभाव नहीं बल्कि हमें एक साथ चलना चाहिए. धनकर ने रविवार (30 दिसंबर) को कोलकाता में आयोजित एक कार्यक्रम ये बात कही. 

उन्होंने कहा कि किसी भी काम को करने के दौरान अगर हम लोग आपसी मतभेद और एक दूसरे के ऊपर आरोप लगाना शुरू करेंगे, दूसरे की कमजोरी को देखना शुरू करेंगे तो फिर हम पीछे चले जाएंगे. हम कभी भी आगे नहीं बढ़ पाएंगे. संवैधानिक पद पर बैठे लोगों से मेरा एक ही अनुरोध रहेगा 'टिट फॉर टैट' की सोच लेकर अगर चलेंगे तो हम कभी भी आगे नहीं बढ़ पाएंगे.

ये भी पढ़ें: 'ममता सरकार मेरे सामने एक-एक करके बैट्समैन भेज रही है, मैं कोई बॉलर नहीं, अंपायर हूं'

उन्होंने कहा कि खुले मन के साथ जनता को यह बताना होगा कि हम एक साथ काम कर रहे हैं. मैं राज्यपाल के तौर पर किसी भी परिस्थिति में किसी को यह नहीं कह सकता कि आप के गिलास में आधा ही पानी है या आप दुर्बल हैं. मुझे ऐसा लगता है कि कोई भी सिस्टम परफेक्ट नहीं है. 

ये भी पढ़ें: ममता सरकार का फिर राज्‍यपाल धनखड़ को हेलीकॉप्‍टर देने से इनकार

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल ने कहा कि सिस्टम को आगे ले जाने के लिए एक पहिया राज्यपाल का होता है तो दूसरा मजबूत पहिया सरकार का होता है. यह दोनों पहिए एक साथ चलें यही मेरी कोशिश रहेगी. उन्होंने कहा हाल के संकेत मुझे यह बताते हैं की माननीय मुख्यमंत्री ने 26 दिसंबर को चिट्ठी भेजी है वो सार्थक साबित होगा, डायरेक्शन देने वाला है, पॉजिटिव माइंड बताता है और मैं समझता हूं कि इसके अच्छे परिणाम होंगे.