close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

प. बंगाल: पुल को लेकर राजनीतिक घमासान जारी, दूसरी बार होने जा रहा है उद्घाटन

वर्धमान रेलवे स्टेशन के पास नवनिर्मित फ्लाईओवर के उद्घाटन को लेकर राजनीती चरम पर पहुंच चुकी है. इस पुल का एक बार उद्घाटन हो चुका है दूसरी बार होने जा रहा है . 

प. बंगाल: पुल को लेकर राजनीतिक घमासान जारी, दूसरी बार होने जा रहा है उद्घाटन

वर्धमान: वर्धमान रेलवे स्टेशन (railway station) के पास नवनिर्मित पुल (Bridge) के उद्घाटन को लेकर राजनीती चरम पर पहुंच चुकी है. इस पुल का एक बार उद्घाटन हो चुका है दूसरी बार होने जा रहा है . 

इसी हफ्ते मंगलवार को तृणमूल (TMC) सरकार के पंचायत मंत्री सुब्रत मुख़र्जी ने इस पुल का उद्घाटन किया था. जबकि केंद्र सरकार द्वारा इस पुल का उद्घाटन 27 सितंबर को किया जाना है. 

मंगलवार को उद्घाटन के बाद पुल को बंद कर दिया गया था और बैरिकेड लगा दिया गया था. शुक्रवार सुबह कुछ बीजेपी (BJP) कार्यकर्ताओं द्वारा बैरिकेड को खोलने की कोशिश की गई, हालांकि पुलिस ने उन्हें रोक दिया.  इस पुल को अभी तक सुरक्षा के लिहाज से खोला नहीं गया है क्योंकि रेलवे की तरफ से सेफ्टी क्लीयरेंस सर्टिफिकेट पुल को अभी तक नहीं मिला है. इस पुल  अभी  में लाइट नहीं है और कोई स्ट्रीट लाइट भी नहीं है .

तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने बुधवार को पुल से बैरिकेड हटा कर रास्ते को खोल दिया जिसे थोड़ी देर बाद पुलिस ने दोबारा बंद कर दिया. लेकिन शुक्रवार सुबह फिर से बीजेपी के जिला अध्यक्ष संदीप नंदी के नेतृत्व में बीजेपी कार्यकर्ताओं ने एक रैली निकाली और पुल के बैरिकेड को हटाने की कोशिश की. बीजेपी कार्यकर्ताओं ने पुल के ऊपर बाइक रैली निकाली. आखिरकार जैसे-तैसे पुलिस ने बैरिकेड  दोबारा लगा दी. 

जिला बीजेपी अध्यक्ष संदीप नंदी ने बताया की नाटक तो अभी भी चल रहा है क्योंकि हमें बताया गया था की आज इस पुल को जनता के लिए खोल दिया जाएगा. ये पुल वर्धमान के लिए गर्व की बात है और हम भी इसका स्वागत करने के लिए तैयार है. हमने अपने समर्थकों से कह दिया की अभी यहां पर छेड़छाड़ न करें जब रेल की तरफ से इस पुल को खोला जाएगा तब फिर दोबारा नए सिरे से इसका स्वागत करेंगे .

बीजेपी नेता एसएस अहलूवालिया ने भी  यही कहा की यह राज्य सरकार और केंद्र सरकार ने मिलकर इसको बनाया है और राज्य सरकार को साथ मिलकर इसका उद्घाटन करना चाहिए था .