पश्चिम बंगाल: स्कूल में बच्चों से लगवाई जा रही थी झाड़ू, BDO साहब ने देखा और...

ऐसा कोई पहली बार नहीं हो रहा था हर रोज बच्चे इस बात की शिकायत अपन माता-पिता से करते थे. इसके बाद माता पिता ने इसे दिखाने के लिए बीडीओ को मौके पर बुलवाया था.

पश्चिम बंगाल: स्कूल में बच्चों से लगवाई जा रही थी झाड़ू, BDO साहब ने देखा और...
मालदा के रतुआ नंबर 1 ब्लॉक के प्राथमिक स्कूल से बच्चों द्वारा स्कूल की सफाई करवाई जा रही थी

मालदा: पश्चिम बंगाल के मालदा जिले के एक स्कूल की ऐसी तस्वीरें सामने आई हैं जो राज्य की शिक्षा व्यवस्था को खोखला करने वाले सिस्टम की पोल खोल देती हैं. मालदा के रतुआ नंबर 1 ब्लॉक के प्राथमिक स्कूल से बच्चों द्वारा स्कूल की सफाई करवाई जा रही थी. ऐसा कोई पहली बार नहीं हो रहा था हर रोज बच्चे इस बात की शिकायत अपन माता-पिता से करते थे. इसके बाद माता पिता ने इसे दिखाने के लिए बीडीओ को मौके पर बुलवाया था. शनिवार सुबह जब ब्लॉक डेवलप्मेंट ऑफिसर (BDO) ने इन बच्चों को स्कूल सफाई करते हुए देखे तो रुककर बच्चों से पूछा की सफाई करने के लिए किसने कहा? तो बच्चों का कहना था की स्कूल के शिक्षकों ने ही उन्हें सफाई करने को कहा है.

इसके बाद BDO साहब वहां पर रुके रहे. लेकिन प्रशासन की सुस्ती की आलम ये था कि सुबह 11 बजे तक स्कूल में कोई शिक्षक पहुंचा ही नहीं. इसके बाद बीडीओ वहां से चले गए.

इस बारे में जब प्रिंसिपल से पूछा गया तो उनका से पूछा गया तो उनका कहना था की स्कूल में कोई सफाई कर्मचारी नहीं है. बच्चे खुद ही यहां गंदा करते है और सफाई भी वो खुद ही करते हैं. वहीं बच्चों के परिजनों का कहना है हमने ये दृश्य दिखाने में लिए बीडीओ साहब को यहां बुलाया था. स्कूल का समय सुबह 11 बजे शुरू होता है लेकिन अभी तक कोई शिक्षक भी नहीं आए. 

इस स्कूल में कुल 124 विद्यार्थी है और 4 शिक्षक हैं. इस प्रकार से स्कूल के बच्चों को कैसे उचित शिक्षा मिल सकती है. बीडीओ साहब ने इस पूरी घटना पर स्कूल इंस्पेक्टर को रिपोर्ट देने को कहा है. जहां देश के स्कूल के बच्चों के साथ प्रधानमंत्री परीक्षा को लेकर चर्चा करने वाले हैं वहीं देश में कई बच्चे ऐसे हैं जिन्हें शिक्षा को लेकर इसप्रकार की मुसीबत का सामना करना पड़ता है.

ये वीडियो भी देखें: