COVID-19: जम्मू में गांव जाने का रास्ता किया बंद, बाहर से आने वाले हर शख्स को रोक रहीं हैं महिलाएं

हमारी सरकार कोरोना वारयस के निपटने के लिए इतना कुछ कर रही है पर कुछ लोग इसकी धज्जियां उड़ा रहे हैं.

COVID-19: जम्मू में गांव जाने का रास्ता किया बंद, बाहर से आने वाले हर शख्स को रोक रहीं हैं महिलाएं
चट्ठा गांव में बाहर से आने वालों को रोकती महिलाएं.

जतिंदर नूरा, जम्मू: कोरोना वायरस (Coronavirus) के चलते पूरे देश में लॉकडाउन (Lockdown) चल रहा है. लॉकडाउन को सफल बनाने के लिए जम्मू से लगभग 15 किलोमीटर दूर चट्ठा गांव की पूर्व सरपंच ने स्थानीय महिलाओं के साथ मिलकर ने गांव को जाने वाली सड़क को बंद कर दिया है. ना ही किसी बाहरी को गांव में जाने की इजाजत है और ना तो गांव वालों को बाहर जाने की इजाजत है.

पूर्व सरपंच गुरमीत कौर और उनके साथ गांव के रास्ते को बंद करने वाली महिलाओं का कहना है कि अगर कोरोना वायरस से लोगों को बचाना है तो हमें इस तरह के सख्त कदम उठाने पड़ेंगे. ये एक बहुत ही भयंकर बीमारी है और हम लोगों को इसको रोकने के लिए कुछ सावधानियां बरतनी होंगी. हमारी गवर्नमेंट भी इतने अच्छे से काम कर रही है, जिसको सबको फॉलो करना चाहिए.

महिलाओं ने आगे कहा कि ये हमारी पर्सनल ड्यूटी बनती है कि हम कोरोना को कैसे कंट्रोल करें. हम लोगों को ये चुनौती स्वीकार करनी होगी. हमारे जम्मू कश्मीर में ये कोरोना वायरस दिन प्रति दिन बढ़ता जा रहा है. लेकिन हम सबको इससे रोकने का प्रयास करना है. अगर हम सोशल डिस्टन्सिंग फॉलो करेंगे तभी हम इस बीमारी से बच सकते हैं. ये बीमारी अगर एक को हुई तो एक से सौ तक और फिर सौ से हजार तक ऐसे करते-करते ये बीमारी आगे तक फैल सकती है.

ये भी पढ़ें- PM मोदी ने मुख्‍यमंत्रियों से जिस मास्‍क को पहनकर बात की, क्या है उसकी खास बात

उन्होंने फिर कहा कि एक तरफ हमारी सरकार कोरोना वारयस के निपटने के लिए इतना कुछ कर रही है पर कुछ लोग इसकी धज्जियां उड़ा रहे हैं. पुलिस की तरफ से ऐसे लोगों पर कार्रवाई भी की जा रही है लेकिन लोग ऐसे मानने के लिए तैयार नहीं हैं. हम लोग इतनी सूरज की गर्मी में खड़े होकर लोगों को समझा रहे हैं फिर भी लोग कोई न कोई बहाना बनाकर घरों से बाहर निकल आते हैं.

LIVE TV