close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

चंडीगढ़: 4 साल की मासूम के साथ हैवानियत, मुंहबोले मामा ने ही किया दुष्कर्म

ताजा जारी नेशनल आंकड़ों के अनुसार एक जनवरी से 30 जून 2019 तक चंडीगढ़ पुलिस ने बच्चों से दुष्कर्म के 29 केस दर्ज किए.

चंडीगढ़: 4 साल की मासूम के साथ हैवानियत, मुंहबोले मामा ने ही किया दुष्कर्म
भारत में बच्चों से दुष्कर्म करने वाले आरोपियों को सबसे जल्द सजा दिलवाकर केस खत्म करने वाली पुलिस में चंडीगढ़ का पहला स्थान है.

चंडीगढ़: चंडीगढ़ में चार वर्षीय मासूम बच्ची के साथ उसके मामा ने ही दुष्कर्म किया है. नशा करने के बाद घर के बाहर खेलती बच्ची को बहलाकर दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया. पीड़ित बच्ची के बयानों के आधार पर सेक्टर-31 थाना पुलिस ने हल्लोमाजरा निवासी 19 वर्षीय युवक को पॉक्सो एक्ट की धारा के तहत गिरफ्तार कर लिया है. आरोपी मुंहबोले मामा को जिला अदालत ने जेल भेज दिया है. 

चंडीगढ़ पुलिस के पीआरओ, डीएसपी चरणजीत सिंह ने बताया कि बच्ची अपने मकान के बाहर खेल रही थी. इस दौरान नशे में आरोपी उसको बहलाकर कमरे में ले गया और दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया. पीड़ित बच्ची ने घर जाकर अपने पिता को आरोपी की करतूत बताई. जिसके बाद माता-पिता ने तुरंत शिकायत संबंधित थाना पुलिस को दी. शिकायत के आधार पर पुलिस ने तुरंत मासूम बच्ची का मेडिकल करवाया और आरोपी को हिरासत में ले लिया. मेडिकल रिपोर्ट में दुष्कर्म की पुष्टि हुई. जानकारी के अनुसार बच्ची ने आरोपी की करतूत रोते-रोते बयां की. आरोपी के मेडिकल में शराब की पुष्टि हुई है. 

बता दें कि इस साल मई में ही सेक्टर-26 थाना एरिया में 65 वर्षीय बुजुर्ग पड़ोसी ने घर के बाहर खेल रही छह वर्षीय मासूम को बहलाकर दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया था. बच्ची की मां की शिकायत पर पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार किया था. 

इससे पहले सेक्टर-56 रहने वाली 13 वर्षीय नाबालिग से उसके सगे मामा का बेटा दुष्कर्म करने में गिरफ्तार हुआ था. नाबालिग के पेट में तेज दर्द उठने पर मेडिकल चेकअप में सामने आया कि वह तीन हफ्ते की गर्भवती है. जिसके बाद मामा के बेटे द्वारा हवस का शिकार बनाने का खुलासा हुआ और आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था. 

भारत में बच्चों से दुष्कर्म करने वाले आरोपियों को सबसे जल्द सजा दिलवाकर केस खत्म करने वाली पुलिस में चंडीगढ़ का पहला स्थान है. ताजा जारी नेशनल आंकड़ों के अनुसार एक जनवरी से 30 जून 2019 तक चंडीगढ़ पुलिस ने बच्चों से दुष्कर्म के 29 केस दर्ज किए. इतने ही समय में यूटी पुलिस ने कुल 12 केसों में आरोपियों को सजा दिलवाई. यानी केस के कुल 41 प्रतिशत मामले खत्म हो चुके हैं. 

नेशनल आंकड़ों के अनुसार पंजाब पुलिस ने एक जनवरी से 30 जून 2019 तक बच्चों से दुष्कर्म में कुल 347 एफआइआर दर्ज कर 25 केसों में कोर्ट से फैसला करवाया है. इन आंकड़ों के आधार पर पंजाब पुलिस पांचवें स्थान पर है. सिर्फ 7 प्रतिशत मामले निपटें हैं. नेशनल आंकड़ों के अनुसार हरियाणा पुलिस ने एक जनवरी से 30 जून 2019 तक बच्चों से दुष्कर्म में कुल 637 एफआइआर दर्ज कर 22 केसों में आरोपीयों को सजा दिलवाई है. हरियाणा पुलिस का 12वां स्थान हैं. कुल मामलों में से सिर्फ 3 प्रतिशत मामलों में इंसाफ मिला है.