close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सुप्रीम कोर्ट में आज होगी इन बड़े मामलों पर सुनवाई, एक क्लिक में पढ़िए लिस्ट

सुप्रीम कोर्ट में एनआरसी, कर्नाटक के निर्दलीय विधायकों की याचिका और सिख विरोधी दंगों से जुड़ी याचिका जैसे मामले प्रमुख हैं.  

सुप्रीम कोर्ट में आज होगी इन बड़े मामलों पर सुनवाई, एक क्लिक में पढ़िए लिस्ट
फाइल फोटो

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट में आज यानी मंगलवार को कई बड़े मामलों पर सुनवाई होनी है. इनमें से एनआरसी, कर्नाटक के निर्दलीय विधायकों की याचिका और सिख विरोधी दंगों से जुड़ी याचिका जैसे मामले प्रमुख हैं.  

इन मामलों पर होगी सुनवाई

1- कर्नाटक मामले में दो निर्दलीय विधायकों की ओर से दायर याचिका पर सुप्रीम कोर्ट 23 जुलाई को सुनवाई याचिका में 22 जुलाई को शाम 5 बजे से पहले फ्लोर टेस्ट कराने की मांग की गई थी. जिसपर जल्द सुनवाई से कोर्ट ने इनकार कर दिया था. याचिका में कहा गया है कि गवर्नर के बार बार कहने के बावजूद मुख्यमंत्री फ्लोर टेस्ट नहीं करा रहे, इसलिए कोर्ट को दखल देना चाहिए. निर्दलीय विधायकों आर शंकर और एच नागेश ने याचिका में कहा है कि मुख्यमंत्री कुमारस्वामी सोमवार को विश्वासमत टालने के लिए बीमारी का बहाना कर हॉस्पिटल में भर्ती हो सकते हैं.

2- महाराष्ट्र विधानसभा के लिए मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के चुनाव को चुनौती देने वाली याचिका पर 23 जुलाई को अंतिम सुनवाई करेगा. आरोप है कि मुख्यमंत्री ने अपने नामांकन पत्र में अपने खिलाफ लंबित आपराधिक मामलों का खुलासा नहीं किया है.फडणवीस के निर्वाचन को चुनौती देते हुए सतीश उके ने याचिका दायर कर रखी है. याचिका में फडणवीस के खिलाफ लंबित तमाम आपराधिक मामलों का कथित तौर पर खुलासा नहीं करने को आधार बनाते हुए महाराष्ट्र विधानसभा के लिए उनके चुनाव को अमान्य घोषित करने का अनुरोध किया है.

3- एनआरसी मामले में सुप्रीम कोर्ट 23 जुलाई को सुनवाई करेगा. केंद्र सरकार और राज्य सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में एनआरसी का समय सीमा बढ़ाने का अनुरोध किया है. सॉलिसीटर जनरल तुषार मेहता ने पिछली सुनवाई के दौरान कहा था कि सुप्रीम कोर्ट 31 जुलाई की डेडलाइन में बदलाव करे. बता दें कि असम में बाढ़ की स्थिति विकराल हो गई है. राज्‍य में बाढ़ के कारण 54 लाख लोग विस्थापित हुए हैं. राज्‍य के 33 में से 28 जिले बाढ़ की चपेट में हैं. असम एनआरसी केन्द्र और असम सरकार ने सीमा से लगे जिलों मे 20 फ़ीसद सैंपल पुर्नजांच के लिए सुप्रीम कोर्ट से फ़ाइनल एनआरसी की तारीख़ 31 जुलाई बढाने का आग्रह किया.

 

4- 1984 के सिख विरोधी दंगा मामले में 33 दोषियों की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट 23 जुलाई को सुनवाई करेगा. दोषियों ने दिल्ली हाई कोर्ट के नवंबर 2018 के उस आदेश को चुनौती दी है जिसमें उन्हें 5-5 साल के कारावास की सजा दी गई है. दोषियों को 1984 में तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के बाद दिल्ली के त्रिलोकपुरी इलाके में दंगा करने, मकानों को जलाने और कर्फ्यू को तोड़ने के लिए दिल्ली हाई कोर्ट ने सजा दी है. याचिकाकर्ताओं ने कहा है कि उनके खिलाफ भी आरोपों की बाबत कोई सुबूत नहीं है. बाकी के 19 में से 16 की सुनवाई के दौरान मौत हो चुकी थी, जबकि हाई कोर्ट ने बाकी के तीन दोषियों की अपील इस आधार पर खारिज कर दी थी क्योंकि वे लापता थे.

5- कारपोरेट लॉबिस्ट दीपक तलवार के पुत्र आदित्य तलवार को लेकर दायर याचिका पर सुप्रीम कोर्ट 23 जुलाई को सुनवाई करेगा. एंटीगुआ निवासी आदित्य तलवार उड्डयन घोटाले से जुड़े मनी लांड्रिंग मामले में आरोपित है और वह अभी तक जांच में शामिल नहीं हुआ है. ईडी की ओर से पेश सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कोर्ट को बताया था कि आदित्य तलवार देश से बाहर है और उसका कोई अता-पता नहीं है, इसके बावजूद दिल्ली हाई कोर्ट ने उसे वकील के जरिये पेश होने की अनुमति प्रदान कर दी है.

6- आम्रपाली के अधूरे प्रोजेक्ट पूरा करने पर सुप्रीम कोर्ट आज फैसला ले सकता है. सुप्रीम कोर्ट तय करेगा कि अधूरे प्रोजेक्ट पूरा करने का ज़िम्मा किसे दिया जाए. सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि निवेशकों के साथ धोखा करने वाले समूह ने ज़मीन की लीज़ शर्तों का भी उल्लंघन किया. सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि नोएडा अथॉरिटी ज़मीनों का लीज़ रद्द कर कब्ज़ा ले और प्रोजेक्ट पूरा करवाए.